कोल्लम. केरल के कोल्लम में एक डरा देने वाली घटना सामने आई है. 30 साल की महिला के पेट में स्थानीय सीपीएम नेता ने पैर से चोट की जिसके बाद महिला को अबॉर्शन कराना पड़ा है. तामराशेरी में 2 हफ्ते पहले ये घटना घटी थी. जिस वक्त महिला के साथ ये उत्पीड़न हुआ वह 4 महीने की गर्भवती थी.

महिला का ‘दोष’ इतना भर था कि उसने अपने पति और पड़ोसी के बीच घर में चल रहे झगड़े में बीच बचाव करने की कोशिश की. महिला का एक 5 साल का बेटा और भी है. एक अंग्रेजी चैनल से बात करते हुए महिला ने कहा कि उसके पति से दो लोग बदतमीजी कर रहे थे जिसमें से एक सीपीएम का स्थानीय नेता था. इस नेता का नाम थंबी बताया जा रहा है. इन नेता ने महिला के पेट बुरी तरह से पैर मारा और वह तुरंत ही ब्लीड करने लगी. महिला को नजदीक के अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसे फोर्स अबॉर्शन कराना पड़ा. फैमिली ने मवूर में बच्चे का अंतिम संस्कार कर दिया.

इस मामले में पुलिस ने एक शख्स को गिरफ्तार किया है लेकिन मुख्य आरोपी अभी भी फरार है. थंबी की गिरफ्तारी के लिए पीड़ित परिवार ने स्थानीय पुलिस स्टेशन के बाहर प्रदर्शन भी किया.

महिला के पति शिबू ने कहा कि परिवार पर सीपीएम नेताओं और कार्यकर्ताओं का दबाव बढ़ता ही जा रहा है. इसमें पड़ोसी भी शामिल हैं. ये सभी आरोपी दबाव डालकर आरोपी की पहचान छुपाने के लिए और केस वापस लेने के लिए कह रहे हैं. महिला के पति ने आगे बताया कि केस के एक आरोपी ने उसके पैर काटकर फेंक देने की भी धमकी दी है.

इन सबके बीच सीपीएम नेताओं ने अपनी पार्टी के किसी भी नेता या कार्यकर्ता की इस तरह की घटना में शामिल होने के आरोपों को खारिज कर दिया है.