नई दिल्ली. वाईएसआर कांग्रेस के पांच सांसदों ने शुक्रवार को लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन को इस्तीफा सौंप दिया. वे आंध्र प्रदेश के लिए विशेष दर्जे की मांग कर रहे हैं.पार्टी के पांच सांसदों- वारा प्रसाद राव वेलगापल्ली, वाई वी सुभा रेड्डी और पी वी मिधुन रेड्डी, वाईएस अविनाश रेड्डी और सदन में पार्टी के नेता एम राजमोहन रेड्डी ने इस्तीफा दिया है. इन सांसदों ने लोकसभा अध्यक्ष के चैम्बर में पहुंचकर उनको अपना इस्तीफा सौंपा.

इनमें से एक त्यागपत्र में कहा गया है, ‘मैं तत्काल प्रभाव से अपनी सीट से इस्तीफा देता हूं.’ इससे पहले वाईएसआर कांग्रेस के नेता जगन मोहन रेड्डी ने ट्वीट किया, ‘हम जो कहते हैं वो करते हैं. वाईएसआर कांग्रेस के सांसद आज इस्तीफा सौंप रहे हैं.

एन चंद्रबाबू नायडू को चुनौती है कि वह तेदेपा सांसदों का इस्तीफा करवाएं और आंध्र प्रदेश के लिए विशेष दर्जे की जायज मांग को लेकर राज्य के लोगों के साथ एकजुट होकर खड़े हों. इन सांसदों ने गुरुवार को संवाददाताओं से कहा था कि वे आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने में राजग सरकार की ‘नाकामी’ के विरोध में इस्तीफा दे रहे हैं.
बता दें कि इससे पहले सांसदों ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वे इसलिए क्षुब्ध हैं कि सदन में लगातार बाधा के कारण राजग सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के नोटिस पर चर्चा नहीं हो सकी. वाईएसआर कांग्रेस के सांसदों ने आंध्रप्रदेश को विशेष दर्जा देने में विफल रहने के लिए सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दिया था.

सांसद वाराप्रसाद राव वेलागपल्ली ने कहा, ‘‘इस्तीफा उचित प्रारूप में सौंपा जाएगा। उपचुनाव कराने में काफी समय बचा है… हम चुनाव लड़ेंगे और विशेष राज्य के दर्जा की अपनी मांग को जारी रखेंगे।’’