नई दिल्ली: कहते हैं बादाम खाने से याद रखने की क्षमता बढ़ती है. लेकिन मान्यता यह भी है कि बादाम की तासीर गर्म होती है. इसलिए गर्मियों में इसका सेवन बदहजमी, गैस, पेट में सूजन आदि का कारण बन सकता है. ऐसे में लोग गर्मियों में भिगोया हुआ बादाम खाने की सलाह देते हैं. वास्तव में बादाम खाने का सही तरीका यही हैैै. भिगोए हुए बादाम में सूखा या रोस्टेड बादाम की तुलना में ज्यादा पोषक तत्व होते हैं. बादाम को भिगाते ही इसमें मौजूद प्रोटीन का स्तर बढ़ जाता है और उसकी तासीर भी थोड़ी सामान्य हो जाती है.

अध्ययनकर्ताओं के अनुसार सुबह-सुबह रोजाना भीगा हुआ बादाम खाने के 10 फायदे हैं. आप भी जानें…

1. दांत मजबूत होंगे:

बादाम में फास्फोरस होता है. भीगे हुए बादाम में फास्फोरस भी ज्यादा होता है. इसलिए इसे खाने से दांत मजबूत होते हैं और दांतों के साथ-साथ मसूड़ों की समस्या भी खत्म हो जाती है.

2. चेहरे की चमक बढ़ती :

भीगे हुए बादाम में विटामिन ई का स्तर भी ज्यादा होता है. विटामिन ई त्वचा को सेहतमंद रखता है. यानी अगर आप रोजाना रात में भिगोया हुआ बादाम खाते हैं तो आपको कभी त्वचा से संबंधित परेशानी नहीं होगा और आपकी त्वचा हमेशा दमकती रहेगी और सॉफ्ट होगी.

3. दिल की परेशानी रहेगी दूर:

भीगा हुआ बादाम शरीर में बनने वालेे बैड कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करता है. बैड कोलेस्ट्रॉल के कारण ही दिल से जुड़ी बीमारियां होती हैं.

लंबे वक्त तक बैठने से याददाश्त जाने का खतरा: शोध

4. पाचन रहेगा ठीक:

बादाम में उच्च स्तर का फाइबर होता है जो पेट की पाचन क्रिया में मददगार होता है. रोजाना रात में बादाम भिगा दें और उसे सुबह-सुबह खाएं. इससे कब्ज की समस्या दूर हो जाएगी और एसिडिटी व पेट में सूजन जैसी परेशानी भी नहीं रहेगी.

5. संतान की इच्छा पूरी:

मां और पिता बनने की इच्छी पूरी करने में भी बादाम मददगार साबित होता है. भीगे हुए बादाम में फोलिक एसिड होता है. प्रेग्नेंसी के दौरान गाइनेकोलोजिस्ट फोलिक एसिड की दवाएं भी लिखती हैं ताकि गर्भपात से बचाया जा सके. अगर आप बच्चे की प्लानिंग कर रहे हैं तो रोजाना भिगा हुआ बादाम खाने की आदत डालें.

6. डायबिटीज में राहत:

आज के समय में डायबिटीज बीमारी बहुत आम हो गई है. शहरी क्षेत्र की बात करें तो  हर घर में अमूमन एक डायबिटीक तो मिल ही जाता है.  भीगा हुुुुआ बादाम ब्लड शुुुुगर कंट्रोल करने में मददगार और कारगर होता है. इसलिए आप या आपके परिवार में कोई भी डायबिटीज का शिकार है तो उन्हें भीगा हुआ बादाम जरूर खिलाएं.

7. थम जाएगी बढ़ती उम्र:

भीगे हुए बादाम में एंटीऑक्सिडेंट की अत्यधिक मात्रा होती है. इसलिए इसे खाने से बढ़ती उम्र का असर आपकी त्वचा और सेहत पर नहीं दिखेगा.

8. मांसपेशियों की सेहत :

भीगे हुए बादाम मांसपेशियों की सेहत के लिए भी जरूरी हैं. सूखे और रोस्ट किए हुए बादाम के मुकाबले भिगे हुए बादाम में प्रोटीन का स्तर ज्यादा होता है. प्रोटीन नई कोशिकाओं के निर्माण में मददगार होता है, जिससे मांसपेशियां मजबूत होती हैं.

9. याद रखने की शक्ति:

बादाम खाने से मस्तिष्क मजबूत होता है यह तो आप जानते ही हैं. पर भीगा हुआ बादाम खाने से याद रखनेे की क्षमता कई गुना बढ़ जाती है. दरअसल, भीगे हुए बादाम में ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है, जिसे ब्रेन फूड कहा जाता है. यानी ओमेगा  3 फैटी एसिड मस्तिष्क की खुराक की तरह काम करता हैैै. इसलिए अगर आपको दिमागी ताकत बढ़ानी है तो रोजाना भीगा हुआ बादाम खाने की आदत डालें.

10. कैंसर से बचाव:

बादाम में मौजूद फ्लेवोनाइडस कैंसर से बचाने में मदद करता है.