टोक्यो: जापान के मसाजो नोनाका को मंगलवार को दुनिया के सबसे बुजुर्ग व्यक्ति के खिताब से नवाजा गया. यह खिताब मसाजो नोनाका को गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड्स की ओर से दिया गया है. नोनाका 112 साल के हैं.

खिताब देने के दौरान जब नोनाका की सेहत और उम्र का राज पूछा गया तो उनके परिवार ने बताया कि नोनाका को मिठाईयां खाना बेहद पसंद है और वह हमेशा गर्म पानी से ही नहाते हैं. उनकी उम्र और सेहत का यही राज है.

नोनाका का जन्म 25 जुलाई 1905 को हुआ था. अगर आपको याद हो तो अल्बर्ट आइंस्टाइन ने ठीक एक महीने बाद ही अपनी अपने ‘theory of special relativity’ को पब्लिश किया था. 112 साल के नोनाका अपने पैरों पर नहीं चल पाते. वह व्हील चेयर पर ही घूमते हैं. लेकिन उनकी सेहत की स्थिति ठीक है.

अगर आप फेयरनेस क्रीम लगाते हैं तो यह जरूर पढ़ें…

नोनाका को हर तरह की मिठाई खाना पसंद है. वह जापानी मिठाईयों के साथ-साथ पश्चिमी मिठाईयों का भी भरपूर आनंद लेते हैं. वह हर दिन अखबार पढ़ते हैैं और गर्म पानी से नहाते हैं.

नोनाका के सात भाई हैं और एक बहन है, जो उनके शहर के नजदीक ही रहते हैं. गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड्स के अनुसार नोनाका की शादी हत्सुनो से साल 1931 में हुई और उनके 5 बच्चे हैं. नोनाका से पहले स्पेन के फ्रांसिस्को नुनेज ओलीवेरा के पास सबसे बुजुर्ग होने का खिताब था. वह 113 साल के थे. इस साल फरवरी में उनका देहांत हो गया.

इससे पहले जापान के 116 साल के जिरोइमाॅॅॅन किमूरा को भी सबसे बुजुर्ग व्यक्ति का खिताब मिल चुका है. जापान में करीब 68,000 लोगों की उम्र 100 या इससे ज्यादा है.