नई दिल्ली: अगर आपका शादी नहीं हो पा रही है या किसी वजह से बार-बार शादी टूट रही है तो शनिवार को अक्षय तृतीया की तिथि बेहद शुभ है. इस दिन किया गया उपाय आपके विवाह के बीच बन रहे हर अड़चन को दूर करेगा. अक्षय तृतीया को सबसे शुभ मुहूर्त मानते हैं. हर साल वैशाख शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाया जाता है. इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है. मान्यता है कि इसी दिन परशुराम और हय ग्रीव का अवतार हुआ था. इसके अलावा, ब्रह्मा जी के पुत्र अक्षय कुमार का जन्म भी इसी दिन हुआ था. इसलिए इस दिन का महत्व और भी बढ़ जाता है.

14 अप्रैल को सूर्य कर रहा है राशि परिवर्तन, जानें क्या होगा असर

विवाह के लिए करें यह उपाय
विवाह में आई बाधाओं को दूर करने में पीपल का महत्व अत्यधिक माना जाता है. अक्षय तृतीया के शुभ अवसर पर नारियल लें. उसे अपने हाथ में रखें और फिर अपने गोत्र का नाम लें. इसके बाद पीपल की 7 परिक्रमा करें. परिक्रमा पूरी करने के बाद नारियल वहीं रख दें और पीपल को प्रणाम करके वापस घर लौट आएं. इससे विवाह में आ रही सभी रुकावटें दूर हो जाएंगी.

अक्षय तृतीया के दिन मिट्टी के पात्र दान करने का बहुत महत्व है. इस दिन मिट्टी के पात्र या मटकी का दान शिवालय में करें या शिव मंदिर में करें और भगवान शंकर और पार्वती का रुद्राभिषेक करें. इससे भी विवाह में आ रही अड़चनें दूर होती हैं.