नई दिल्ली: भारत में अतिलोकप्रिय रहे सोशल नेटवर्किंग साइट ऑर्कुट डॉट कॉम के संस्थापक ऑर्कुट बुयुखोकटेन ने बुधवार को भारत में हलो नेटवर्क लॉन्‍च किया. ऑर्कुट हलो नेटवर्क इंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं और इन दिनों अपनी टीम के साथ भारत के पांच शहरों के दौरे पर हैं. दिल्ली में हलो नेटवर्क लॉन्‍च करने के बाद ऑर्कुट अपनी टीम के साथ मुम्बई, चेन्नई, बेंगलुरू और हैदराबाद के दौरे पर जाएंगे.

अपने पसंदीदा लोगों से जुड़ना होगा आसान
ऑर्कुट ने कहा कि हलो एप को खासतौर पर नए जेनरेशन के लिए तैयार किया गया है, जो अपने पसंद के क्षेत्रों से जुड़े लोगों को एक प्लेटफॉर्म पर लाकर एक सकारात्मक और अर्थपूर्ण सोशल नेटवर्किंग का माहौल तैयार करेगा. हलो का मॉडल असल जीवन के मॉडल से प्रेरित है, जहां लोग आम जिंदगी में अपने स्वभाव और हॉबी से मिलते-जुलते लोगों से अधिक मिलना-जुलना पसंद करते हैं.

अर्थपूर्ण नेटवर्किंग है लक्ष्‍य
हलो के संस्थापक का दावा है कि यह नेटवर्क इससे जुड़ने वालों को तकनीक द्वारा तैयार उस काल्पनिक और दुविधापूर्ण दुनिया से अलग ले जाएगा, जहां वे आज काफी परेशान और हताश महसूस करते हैं. ऑर्कुट ने कहा, “असल जिंदगी में हमारा पैशन हमारे बीच जारी संवाद का माध्यम बनता है. हम ऐसे लोगों से अधिक मिलना-जुलना पसंद करते हैं, जिनकी आदतें और पसंद हमसे मिलते-जुलते हैं. हमारा लक्ष्य एक ऐसा प्लेटफॉर्म तैयार करना था, जहां लोग अपने पसंद के लोगों से मिलें और अर्थपूर्ण तथा सकारात्मक बातें करें. इसमें तकनीक हमारी मदद करेगा लेकिन हमें किसी प्रकार से कंफ्यूज या फिर हताश नहीं करेगा. हलो नेटवर्क पर इसकी कोई सम्भावना नहीं छोड़ी गई है.”

बेटा टेस्‍ट के अच्‍छे परिणाम 
हलो नेटवर्क इंक ने भारत में बीते कई महीनो तक बेटा टेस्ट कराया है और इसका परिणाम काफी सकारात्मक रहा है. ऑर्कुट को भरोसा है कि जिस तरह भारत में ऑर्कुट डॉट कॉम के 30 करोड़ से अधिक उपयोगकर्ता थे, उसी तरह हलो नेटवर्क भी सफल रहेगा और लोगों को खुशी प्रदान करेगा.

इस ऐप को गूगल ऐप स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है और इसका आईओएस वर्जन भी उपलब्ध है. यह मुफ्त है और इसका उपयोग करने के लिए लॉगइन जरूरी है, जो पर्सनल लॉग इन क्रिएट करके किया जा सकता है या फिर अपने फोन नम्बर के माध्यम से किया जा सकता है.