नई दिल्ली: एक नई अध्ययन की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि सार्वजनिक शौचालयों में गर्म हवा देने वाले हैंड ड्रायर्स खतरनाक बीमारियों का कारण बन सकते हैं. अध्ययनकर्ताओं का दावा है कि सार्वजनिक शौचालयों में ट्वायलेट फ्लश करने के बाद जो बैक्टीरिया निकलते हैं, उसे हैंड ड्रायर्स अपनी ओर खींच लेते हैं.

अध्ययन के दौरान बाथरूम में कुछ ऐसे बर्तन रखे गए, जो बैक्टीरिया युक्त थे. 18 घंटे तक बाथरूम में छोड़ने के बाद देखा गया कि बैक्टीरिया की संख्या में कितनी बढ़ोतरी हुई है. इसके बाद बैक्टीरियायुक्त बर्तनों को ऐसे बाथरूम में रखा गया, जिसमें हैंड ड्रायर था. हैंड ड्रायर वाले बाथरूम में रखने के बाद 30 सेकेंड के भीतर बैक्टीरिया की संख्या में 254 की बढ़ोतरी हो चुकी थी.

यह भी पढ़ें: वजन घटाना है तो इस गर्मी रोजाना पिएं नारियल पानी

इन जीवाणुओं में स्टेफीलोकोकस औरियस भी शामिल हो सकते हैं, जो एंटीबायोटिक मेथिसिलिन जैसी दवाओं के लिए आपको रेसिस्ट बना सकते हैं ओर सेप्सिस, नीमोनिया या टॉक्सिक शॉक सिंड्रॉम जैसी बीमारियों से ग्रस्त कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: अगर आप फेयरनेस क्रीम लगाते हैं तो यह जरूर पढ़ें…

अध्ययनकर्ताओं के अनुसार हैंड ड्रायर से निकलने वाली गर्म हवा के कारण स्पोर्स नाम की बैक्टीरिया हाथ से चिपक जाती है, जो दस्त और डिहाइड्रेशन की वजह बन सकता है. इसलिए अगली बार जब सार्वजनिक शौचालय का इस्तेमाल करें. हैंड ड्रायर का प्रयोग ना करें.