भोपाल: मध्यप्रदेश में महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार के खिलाफ कांग्रेस की प्रदेश इकाई सोमवार से रायसेन जिले के उदयपुर से ‘न्याय यात्रा’ की शुरुआत कर रही है. यह यात्रा उस गांव से शुरू हो रही है, जहां राज्य सरकार में मंत्री रामपाल सिंह की पुत्रवधू प्रीति रघुवंशी ने आत्महत्या की थी.

कांग्रेस ने राज्य में महिलाओं पर बढ़ते अत्यचार को मुद्दा बनाकर जनजागृति लाने के मकसद से यह यात्रा निकालने का फैसला लिया है. यह यात्रा प्रदेशध्यक्ष अरुण यादव और नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के नेतृत्व में निकाली जा रही है. प्रदेशाध्यक्ष अरुण यादव का कहना है कि राज्य में जब मंत्री की पुत्रवधू को ही न्याय नहीं मिल रहा है तो अन्य महिलाओं और युवतियों को कितना न्याय मिल पा रहा होगा. यह सवाल है, जिसका शिवराज सिंह चौहान को जवाब देना चाहिए. घटना को लगभग एक पखवाड़ा गुजर गया है और अब तक पुलिस ने मामला ही दर्ज नहीं किया है.

नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने बताया, ‘इस दो दिवसीय यात्रा के बाद 16 अप्रैल से पूरे प्रदेश में न्याय यात्रा निकाली जाएगी. राष्ट्रीय अपराध अन्वेषण ब्यूरो (एनसीआरबी) के आंकड़े राज्य में महिला अत्याचारों की कहानी बयां करने वाले हैं.’ कांग्रेस की ओर से दी जानकारी के अनुसार, उदयपुरा से शुरू होने वाली यह न्याय यात्रा शुक्रवार को भोपाल पहुंचकर समाप्त होगी. इस मौके पर इकबाल मैदान में एक जनसभा होगी. (इनपुट-एजेंसी)