भोपाल. मध्यप्रदेश सरकार ने इस दिवाली में अधिक ध्वनिकारक पटाखों का विनिर्माण, विक्रय या उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया है.
एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार मध्यप्रदेश के पर्यावरण मंत्री अंतर सिंह आर्य ने कहा, केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार 125 डी.बी. (ए.आई.) या 145 डी.बी. (सी) से अधिक ध्वनिस्तर जनक पटाखों का विनिर्माण, विक्रय या उपयोग वर्जित होगा.

नोएडा के पटाखा विक्रेताओं को लाखों का नुकसान, एडवांस देकर करा चुके हैं पटाखे की बुकिंग

नोएडा के पटाखा विक्रेताओं को लाखों का नुकसान, एडवांस देकर करा चुके हैं पटाखे की बुकिंग

उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय के ध्वनि प्रदूषण पर नियंत्रण के परिप्रेक्ष्य में जारी निर्देशानुसार रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक ध्वनिकारक पटाखों का चलाया जाना पूरी तरह प्रतिबंधित होगा. यह मध्यप्रदेश में भी लागू होगा. उन्होंने कहा कि पटाखों के ज्वलनशील एवं ध्वनिकारक होने के कारण परिवेशी वायु में प्रदूषक तत्वों की वृद्धि होने से पर्यावरण और मानव पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है.

आर्य ने प्रदेशवासियों को दीपावली पर्व की शुभकामनाएँ देते हुए पटाखों का सीमित मात्रा में उपयोग और इससे उत्पन्न कचरे को अलग से निष्पादित करने की अपील की है.