इंदौर : आम आदमी पार्टी ने उन्नाव गैंग रेप कांड और हिरासत में पीड़िता के पिता की मौत मामले में यूपी की योगी सरकार पर हमला बोला. यूपी के उन्नाव जिले में नाबालिग लड़की से कथित बलात्कार के मामले में उत्तर प्रदेश के भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को जिस प्रकार से बचाने की कोशिश की जा रही थी, गंभीर मामलों में मुकदमा दर्ज होने के बावजूद आरोपी विधायक को यूपी पुलिस ने गिरफ्तार नहीं किया था. मामला सीबीआई को सौंपे जाने के बाद सीबीआई ने आरोपी को हिरासत में लिया. इस पूरे घटनाक्रम को लेकर आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने उत्तर प्रदेश की सत्तारूढ़ भाजपा सरकार को कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर कटघरे में खड़ा किया. संजय सिंह ने मीडिया से बातचीत में यहां तक कहा कि उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा के नेताओं का ‘‘आतंक’’ है, उत्तर प्रदेश की जनता भाजपा नेताओं के आतंक के साए में जी रही है.

भाजपा नेताओं पर किसी का कोई नियंत्रण नहीं

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद और राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय सिंह ने इंदौर में संवाददाताओं से बातचीत में योगी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में अराजकता का माहौल है और भाजपा नेताओं ने आतंक मचा रखा है. सत्तारूढ़ दल के नेताओं से वहां के पुलिस अधिकारी तक सुरक्षित नहीं हैं. उन्होंने कहा, उत्तरप्रदेश में बाबा (योगी आदित्यनाथ) का राज है. वहां भाजपा नेताओं पर किसी का कोई नियंत्रण नहीं है.

संसद चलाने के लिए पीएम को उपवास की जरूरत नहीं- आप

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में भाजपा नेताओं के ब्रहस्पतिवार के उपवास पर भी सवाल उठाए और ये कहा कि यह उपवास संसद की कार्यवाही नहीं चलने देने को लेकर विपक्ष के रवैये के विरोध में किया गया था. उन्होंने पूछा कि “क्या संसद चलाने के लिये प्रधानमंत्री को उपवास करने की जरूरत है ? और खुद ही जवाब देते हुए कहा कि उन्हें विपक्ष के राजनीतिक दलों से उनकी समस्याओं पर सीधी चर्चा करनी चाहिये.
अन्ना हजारे के अनशन पर बोले संजय सिंह
संजय सिंह ने अन्ना हजारे को लेकर किए गए एक सवाल के जवाब में कहा, “सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने अपने आंदोलनों के जरिये देश के लिये बड़ा योगदान किया है. उन्हें भाजपा या कांग्रेस का एजेंट कहना उनका अपमान है. ” पिछले महीने दिल्ली में हजारे के अनशन में आम आदमी पार्टी के शामिल नहीं होने की वजह पूछे जाने पर राज्यसभा सांसद ने जवाब दिया कि “यह अन्ना का ही निर्णय था कि वह अपने अनशन में किसी भी राजनीतिक दल को शामिल होने की अनुमति नहीं देंगे” आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने दल के बागी नेता कुमार विश्वास से जुड़े सवालों से कन्नी काट ली. उन्होंने कहा कि यह उनका निजी निर्णय है कि वह मीडिया के सामने विश्वास के संबंध में कोई बयान नहीं देंगे.