नयी दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शनिवार को अंबेडकर जयंती के अवसर पर छत्तीसगढ़ के बीजापुर से ‘ग्राम स्वराज अभियान’ और आदिवासियों के सामाजिक आर्थिक विकास से जुड़ी विभिन्न परियोजनाओं की शुरूआत करेंगे.

केंद्र सरकार ने बाबा साहेब भीम राव अम्बेडकर की जयंती के अवसर पर 14 अप्रैल से लेकर 5 मई तक देशभर में ‘ग्राम स्वराज अभियान’ चलाने का निर्णय किया है. इसके तहत एससी-एसटी बहुल गांव में जन कल्याणकारी योजनाओं को तेजी से आगे बढ़ाने पर जोर दिया जायेगा. सूत्रों ने बताया कि देश में ऐसे करीब 21058 गांव है, जहां एससी, एसटी समेत दलितों की आबादी 50 प्रतिशत से अधिक है. ऐसे में केंद्रीय मंत्रियों एवं भाजपा के जन प्रतिनिधियों से कहा गया है कि वे इन गांवों में शिविरों का आयोजन करें . इसकी शुरूआत प्रधानमंत्री मोदी शनिवार को बीजापुर से करेंगे. इस दिन प्रधानमंत्री के भाषण का सीधा प्रसारण किया जायेगा.

दलित बहुल गांवों में जाएंगे भाजपा सांसद व मंत्री

प्रधानमंत्री ने केंद्रीय मंत्रियों समेत भाजपा सांसदों एवं जन प्रतिनिधियों से दलित बहुल गांव में सरकार की सात महत्वपूर्ण जन कल्याण योजनाओं की जानकारी लोगों को देने को कहा है. इस अभियान के अंतर्गत गरीब कल्याण से जुड़ी उज्ज्वला योजना, मिशन इन्द्रधनुष, प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना, उजाला, प्रधानमंत्री जन-धन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना को शत प्रतिशत लागू करने पर जोर दिया जाएगा.

24 अप्रैल को मनाया जाएगा पंचायती राज दिवस

अभियान के तहत 24 अप्रैल पंचायती राज दिवस मनाया जायेगा और राष्ट्रीय एवं ग्राम सभा स्तर पर कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे. इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का मध्यप्रदेश के मंडला में संबोधन होगा, जिसका सीधा प्रसारण ग्राम सभाओं में किया जाएगा. इस दिन प्रत्येक गांव में “स्थानीय सरकार निर्देशिका’ (एलजीडी) का ई-लांच किया जाएगा. प्रत्येक ग्राम पंचायत में ग्राम सभा का आयोजन होगा और सार्वजनिक सूचना अभियान आयोजित किए जाएंगे.