टीम इंडिया के स्टार तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहने का फैसला किया है. नेहरा 1 नवंबर को न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने घरेलू मैदान पर होने वाले टी20 मैच के साथ ही इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह देंगे. 38 वर्षीय नेहरा टीम इंडिया के सबसे उम्रदराज क्रिकेटरों में शामिल रहे हैं. नेहरा ने इंटरनेशनल क्रिकेट में अपना डेब्यू 1999 में किया था. नेहरा को ऑस्ट्रेलिया के साथ खेली जा रही तीन टी20 मैचों की सीरीज के लिए चुना गया था. लेकिन उन्हें पहले दो मैचों में प्लेइंग इलेवन में मौका नहीं मिला.

बीसीसीआई सूत्रों के मुताबिक टीम इंडिया को नवंबर के बाद अगले साल कई महीनों तक कोई टी20 मैच नहीं खेलना है ऐसे में नेहरा नहीं चाहते कि वह युवाओं का रास्त रोककर बैठे रहें. इसीलिए उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लेने का फैसला किया है. नेहरा भारत के लिए अब सिर्फ टी20 ही खेलते हैं, उन्होंने भारत के लिए आखिरी टेस्ट मैच 2004 में और आखिरी वनडे 2011 में खेला था. आइए जानें आशीष नेहरा के बारे में कुछ ऐसे तथ्य जो आप शायद नहीं जानते होंगे.

1. 2011 के वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में चमके, फाइनल नहीं खेल सकेः टीम इंडिया की 2011 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ दमदार गेंदबाजी का प्रदर्शन करते हुए 10 ओवर में 31 रन देकर 2 विकेट झटके और भारत के 260 के जवाब में पाकिस्तान को 231 में समेटने में अहम भूमिका निभाई. लेकिन नेहरा बदकिस्मत रहे और चोटिल होने की वजह से फाइनल में नहीं खेल सके, जहां भारत ने श्रीलंका को हराकर दूसरी बार वर्ल्ड कप जीत लिया.

2. वनडे में दो बार छह विकेट लेने वाले एकमात्र भारतीय गेंदबाजः नेहरा वनडे में दो बार 6 विकेट लेने वाले एकमात्र भारतीय गेंदबाज हैं. नेहरा ने 2003 के वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के खिलाफ 23 रन देकर 6 विकेट लिए, इसके बाद 2005 में उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ 59 रन देकर 6 विकेट झटके. साथ ही आशीष नेहरा के नाम वर्ल्ड कप में भारतीय के लिए सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन करने का रिकॉर्ड है. 2003 के वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के खिलाफ 6 विकेट झटकने के अपना कारनामे के साथ वह वर्ल्ड कप में 6 विकेट झटकने वाले एकमात्र भारतीय गेंदबाज भी बने थे.

नेहरा चोटिल होने की वजह से 2011 वर्ल्ड कप फाइनल नहीं खेल सके थे (Getty)
नेहरा चोटिल होने की वजह से 2011 वर्ल्ड कप फाइनल नहीं खेल सके थे (Getty)

 

3.सबसे उम्रदराज इंटरनेशनल क्रिकेटरः आशीष नेहरा ने अपना टेस्ट डेब्यू फरवरी 1999 में श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो में किया था. वह वर्तमान में भारत ही नहीं दुनिया के सबसे उम्रदराज क्रिकेटर हैं. नेहरा के लंबे करियर का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जब 1999 में नेहरा ने अपना डेब्यू किया था तो टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली सिर्फ 10 साल के थे, अबके स्टार गेंदबाज कुलदीप यादव 4 साल और युजवेंद्र चहल सिर्फ 9 साल के थे, जबकि बुमराह और अक्षर पटेल तो महज 5 साल के थे. और तो और वर्तमान चयन समिति के प्रमुख एमएसके प्रसाद ने खुद नेहरा के आठ महीने बाद टीम इंडिया के लिए अपना डेब्यू किया था. 

38 साल की उम्र में भी टीम इंडिया के लिए इसलिए 'खास' हैं आशीष नेहरा

38 साल की उम्र में भी टीम इंडिया के लिए इसलिए 'खास' हैं आशीष नेहरा

4. 13 साल पहले खेला था भारत के लिए अपना आखिरी टेस्ट मैचः आशीष नेहरा ने भारत के लिए अपना आखिरी टेस्ट मैच अप्रैल 2004 में पाकिस्तान के खिलाफ खेला था. नेहरा ने भारत के लिए अपना आखिरी वनडे मार्च 2011 में पाकिस्तान के खिलाफ खेला था. उन्होंने 2016 के ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर लगभग चार साल बाद 36 साल की उम्र में भारतीय टीम के लिए वापसी की थी. वह 2016 के टी20 वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज रहे. नेहरा ने भारत के लिए अपना आखिरी टी20 मैच इस साल फरवरी में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था. नेहरा आईपीएल में काफी सफल रहे हैं और पांच टीमों मुंबई, दिल्ली, पुणे वॉरियर्स, चेन्नई सुपरकिंग्स और सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेल चुके हैं.

5.सोशल मीडिया से दूर रहते हैं नेहराः आशीष नेहरा ने 2016 टी20 वर्ल्ड कप के दौरान ये कहकर फैंस को चौंका दिया था कि वह फेसबुक, वॉट्सऐप, इंस्टाग्राम और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया माध्यमों से दूर रहते हैं और न्यूज पेपर भी नहीं पढ़ते. उन्होंने ये भी कहा था कि वह स्मार्टफोन के जमाने में भी नोकिया का पुराना फीचर फोन ही यूज करते हैं. हालांकि बाद में नेहरा ने कहा था कि अब वह वॉट्सऐप चलाना सीख रहे हैं.

नेहरा ने भारत के लिए अब तक 17 टेस्ट मैचों में 44 विकेट, 120 वनडे में 157 विकेट और 26 इंटरनेशल टी20 मैचों में 34 विकेट लिए थे.