नई दिल्ली. हैदराबाद के खिलाफ राजस्थान की बेशक हार हुई हो. विलियम्सन की टीम ने अपने होम ग्राउंड पर भले ही रहाणे की अगुवाई वाली टीम को नाकों चने चबवा दिए हों. ऑरेंज आर्मी के खिलाफ भले ही राजस्थान को 9 विकेट से करारी शिकस्त मिली हो. लेकिन इन सबके बावजूद वो भारतीय क्रिकेट की रंगीन लीग का चैम्पियन बन सकता है. दुनिया की सबसे अमीर क्रिकेट लीग में दूसरी बार अपनी खिताबी जीत का ढोल पीट सकते हैं. क्योंकि, हैदराबाद के खिलाफ मिली हार में 16 और 9 का एक ऐसा संयोग बनता है जो ना सिर्फ राजस्थान के राजयोग को मजबूती देता दिख रहा है बल्कि 10 साल बाद एक बार फिर से उसके IPL चैम्पियन बनने पर भी मुहर लगाता दिख रहा है.

IPL-1 में भी बना था संयोग

हम ऐसा क्यों कह रहे हैं अब जरा वो समझिए. दरअसल, आईपीएल के पहले सीजन में राजस्थान रॉयल्स का पहला मुकाबला दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ था. साल 2008 में शेन वॉर्न की कप्तानी में खेले गए उस मुकाबले में राजस्थान को नौ विकेट से हार मिली थी. राजस्थान ने वो मुकाबला 16वें ओवर में हारा था. IPL के पहले सीजन का पहला मैच हारने के बाद राजस्थान ने मैजिकल परफॉर्मेन्स दिया और इस लीग के पहले चैंपियन बनने का तमगा हासिल किया.

धोनी की 'पीली' पलटन ने मुकाबले से पहले ही किया कोलकाता की 'नाक में दम' !

धोनी की 'पीली' पलटन ने मुकाबले से पहले ही किया कोलकाता की 'नाक में दम' !

10 साल बाद फिर से वही संयोग

IPL-11 में 2 साल के बैन के बाद कमबैक करने वाली राजस्थान की टीम को हैदराबाद के खिलाफ खेले पहले मुकाबले में भी 9 विकेट से हार का सामना करना पड़ा है. संयोग की बात ये है कि ये मुकाबला भी राजस्थान की टीम 16वें ओवर में ही हारी है. ऐसे में आंकड़े इस बात की ओर इशारा करने लगे हैं कि हैदराबाद के खिलाफ राजस्थान की हार में उसकी जीत छिपी है.

राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम पर खेले मुकाबले में हैदराबाद ने राजस्थान को 9 विकेट से हराया. टॉस जीत कर मेजबान टीम ने पहले गेंदबाजी का फैसला किया और राजस्थान को पहले बल्लेबाजी के लिए उतारा. हैदराबाद की घातक गेंदबाजी के आगे राजस्थान की टीम के बल्लेबाजों ने घुटने टेक दिए और 20 ओवरों में सिर्फ 125 रन ही बना सके.

हैदराबाद और राजस्थान के मुकाबले के बाद आपस में क्यों भिड़ गए दो पूर्व भारतीय बल्लेबाज ?

हैदराबाद और राजस्थान के मुकाबले के बाद आपस में क्यों भिड़ गए दो पूर्व भारतीय बल्लेबाज ?

इसके बाद 126 रन के टारगेट का पीछा करने उतरी हैदराबाद की टीम ने शिखर धवन की दमदार बल्लेबाजी के दम पर ऑरेंज आर्मी ने राजस्थान को हरा दिया. शिखन धवन ने 57 गेंदों पर 77 रन की नाबाद पारी खेली. कप्तान केन विलियम्सन 36 रन बनाकर नाबाद रहे. दोनों खिलाड़ियों के बीच दूसरे विकेट के लिए 121 रन की साझेदारी हुई, जिसकी बदौलत राजस्थान रॉयल्स ने आसान जीत दर्ज की.