नई दिल्ली: 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में रविवार की सुबह भारत के लिए बेहद सुनहरी रही. वेटलिफ्टिंग में पूनम यादव के गोल्ड मेडल जीतने के कुछ ही मिनटों बाद शूटिंग में भी भारत ने दो मेडल अपने नाम कर लिए. भारत की मनु भाकर ने जहां 10 मीटर एयर पिस्टल में भारत को गोल्ड दिलाया, वहीं हिना सिद्धू ने दूसरे स्थान पर आकर रजक पदक अपने नाम किया. वहीं पुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में निशानेबाज रवि कुमार ने शानदार प्रदर्शन करते हुए कांस्य पदक अपने नाम किया.

मनु ने कुल 240.9 के स्कोर के साथ पहले नंबर पर रहीं. वहीं हिना 234 के स्कोर के साथ दूसरे स्थान पर रहीं. तीसरा यानी ब्रॉन्ज़ मेडल ऑस्ट्रेलिया की एलेना गालियाबोविच को मिला. गालियाबोविच ने कुल 214.9 का स्कोर किया.16 साल की मनु ने कॉमनवेल्थ गेम्स में क्वालिफिकेशन में ही रिकॉर्ड तोड़ दिया था. उन्होंने कुल 388/400 प्वाइंट हासिल किए, जबकि पिछला रिकॉर्ड 379/400 था जो 12 साल पहले बना था.

इससे पहले, वेटलिफ्टिंग में पूनम यादव ने महिला 69 किलोग्राम भारवर्ग में स्वर्ण पदक जीता. पूनम यादव ने स्नैच में पहले प्रयास में 95, दूसरे में 98 और तीसरी कोशिश में 100 वजन उठाया. क्लीन एंड जर्क में उनका सर्वश्रेष्ठ 122 किलोग्राम रहा. इस तरह कुल 222 किलोग्राम वजन उठाकर पूनम ने स्वर्ण पदक अपने नाम किया. कॉमनवेल्थ में अब तक भारत ने कुल 6 गोल्ड जीत लिए हैं. इनमें से 5 वेटलिफ्टिंग में और एक निशानेबाजी में मिला है.

वहीं शनिवार को पुरुषों की 85 किग्रा भारोत्तोलन स्पर्धा के स्नैच में 151 और क्लीन एंड जर्क में 187 किग्रा भार सहित कुल 338 वजन उठाकर स्वर्ण पदक पर कब्जा किया. यह वेटलिफ्टिंग स्पर्धा में भारत का चौथा स्वर्ण और कुल छठवां पदक था. स्नैच स्पर्धा में वेंकट राहुल ने पहले प्रयास में 147 किलो का वजन उठाया. हालांकि, दूसरी बार में वह 151 किलो का भार उठाने में असफल रहे. लेकिन तीसरे प्रयास में उन्होंने इसी भार को उठाकर शानदार प्रदर्शन किया. यह स्नैच में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था.

इसके अलावा राष्ट्रमंडल खेलों के तीसरे दिन भी भारतीय वेटलिफ्टर्स सतीश कुमार शिवलिंगम ने भी गोल्ड जीता. सतीश ने 77 किग्रा भारवर्ग में भारत का झंडा बुलंद किया. वह कुल 317 किग्रा भार उठाकर पहले स्थान पर रहे. उन्होंने स्नैच  में 144 किग्रा और क्लीन एंड जर्क में 173 किग्रा भार उठाया. वह अपने प्रतिद्वंद्वियों से इतने आगे निकल गए कि क्लीन एवं जर्क में अपने आखिरी प्रयास के लिए नहीं गए.

इससे पहले भारत की महिला वेटलिफ्टर मीराबाई चानू और संजीता चानू ने भी गोल्ड जीता था. अबतक भारत ने 6 गोल्ड, 2 सिल्वर, 1 ब्रॉन्ज के साथ 9 पदक हासिल कर लिए हैं.