नई दिल्ली. अगले साल इंग्लैंड में क्रिकेट का महाकुंभ सजेगा, जिसमें दुनिया की दस ताकतवर टीमें अपना दमखम दिखाएंगी. इन दस टीमों में 8 टीमों के नाम पक्के हैं. लेकिन, बाकी की 2 टीमों का चयन क्वालिफायर के जरिए होगा. वर्ल्ड कप क्वालिफायर अगले महीने जिम्बाब्वे में खेला जाएगा, जिसमें बाकी 2 स्थान के लिए दस टीमों के बीच जोरदार टक्कर देखने को मिलेगी.

भारत के पड़ोसी नेपाल ने भी कनाडा का काम तमाम कर इस क्वालिफायर के लिए अपनी दावेदारी पेश कर दी है. यानी अब वो भी वेस्टइंडीज और जिम्मबाब्वे जैसी दूसरी 9 टीमों के साथ इंग्लैंड का टिकट कटाने की कोशिश करेगी.
जिम्बाब्वे में होने वाले वर्ल्ड कप क्वालिफायर में जिन 10 टीमों के बीच मुकाबला होगा उनमें वेस्टइंडीज, जिम्बाब्वे, अफगानिस्तान, नीदरलैंड्स, आयरलैंड, स्कॉटलैंड, हॉन्गकॉन्ग, पापुआ न्यू गिनी और यूएई की टीम शामिल हैं.

वेस्टइंडीज की टीम पहली बार वर्ल्ड कप क्वालिफायर खेलेगी। ये टूर्नामेंट 4 मार्च से 25 मार्च के बीच जिम्बाब्वे में होगा. क्वालिफायर्स से दो टीमों को अगले साल इंग्लैंड में होने वाले क्रिकेट वर्ल्ड कप में खेलने का मौका मिलेगा.

सेंचुरियन में टीम इंडिया के सितारे बुलंद, ऐसा करने वाले विराट कोहली बनेंगे दूसरे कप्तान

सेंचुरियन में टीम इंडिया के सितारे बुलंद, ऐसा करने वाले विराट कोहली बनेंगे दूसरे कप्तान

ICC वर्ल्ड क्रिकेट लीग डिवीजन-2 के मुकाबले में जिस तरह का परफॉर्मेन्स नेपाल ने दिखाया है उससे साफ है कि ये वर्ल्ड कप क्वालिफायर में डार्क हॉर्स साबित होगी.

कनाडा ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवरों में 8 विकेट पर 194 रन बनाए थे. जवाब में टारगेट का पीछा करते हुए नेपाल की टीम ने 144 रन पर 9 विकेट खो दिए थे और वो हार के बेहद करीब पहुंच गई थी . लेकिन, इसके बाद करन केसी और संदीप लमिछाने ने आखिरी विकेट के लिए नॉटआउट 55* रन की पार्टनरशिप करते हुए टीम को जीता दिया.

बता दें कि संदीप लमिछाने वही खिलाड़ी हैं जिनका चयन आईपीएल के ग्यारहवें सीजन के लिए हुआ हैं. वो आईपीएल खेलने वाले नेपाल के पहले क्रिकेटर होंगे.

ऐसे में 21 दिनों तक चलने वाले वर्ल्ड क्वालिफायर में नेपाल का प्रदर्शन भी चौंकाने वाला साबित हो सकता है.