नई दिल्ली: इंडियन टी-20 लीग में चेन्नई और कोलकाता के बीच होने वाले मैच का विरोध कर रहे कुछ संगठन के सदस्यों को पुलिस ने हिरासत में लिया है. यह मुकाबला चेन्नई के एम.ए, चिदम्बरम स्टेडियम में खेला जायेगा. कई राजनीतिक दलों के प्रदर्शनकारी सर्वोच्च न्यायालय द्वारा निर्देशित कावेरी प्रबंधन बोर्ड (सीएमबी) और कावेरी जल नियामक समिति (सीडब्ल्यूआरसी) का गठन नहीं करने के लिए केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे. एसडीपीआई के सदस्यों ने मुख्य मार्ग अन्ना सलाई पर विरोध प्रदर्शन किया जिससे यातायात बाधित हुआ. प्रदर्शनकारी सीएमबी के समर्थन में नारेबाजी कर रहे थे.

कोलकाता के खिलाफ चेन्नई में इस खिलाड़ी की होगी एंट्री, पढ़ें अब तक कैसा रहा है रिकॉर्ड

इस बीच, दर्शकों ने धीरे-धीरे स्टेडियम की ओर जाना शुरू कर दिया है, जबकि मैच के रात आठ बजे शुरू होने की संभावना है. इससे पहले प्रदर्शनकारियों ने मैच के खिलाफ काले गुब्बारे उड़ाए. पुलिस ने क्रिकेट स्टेडियम की घेराबंदी करने का प्रयास करने वाले कुछ प्रदर्शनकारियों को भी हिरासत में लिया. फिल्म निर्माता भारतीराजा और अन्य ने कहा कि वे भी मुख्य सड़कों पर प्रदर्शन करेंगे.

इस बीच टी-20 लीग आयोजनकर्ताओं ने दर्शकों को स्टेडियम में मोबाइल फोन ले जाने की इजाजत देने का फैसला किया. अधिकारियों के अनुसार, इस मैच की सुरक्षा के लिए करीब 4,000 पुलिस सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है. चेन्नई की टीम शाम को आठ बजे कोलकाता के खिलाफ एम.ए. चिदंबरम स्टेडियम में उतरेगी. तमिलनाडु और कर्नाटक के बीच चल रहे कावेरी नदी जल विवाद के कारण इंडियन टी-20 लीग के 11वें संस्करण के मैचों के खिलाफ मिल रही धमकियों को देखते हुए किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए चेन्नई में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है.

धोनी की ‘पीली’ पलटन ने मुकाबले से पहले ही किया कोलकाता की ‘नाक में दम’ !

गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने कावेरी नदी के जल के बंटवारे में तमिलनाडु के हिस्से का पानी घटा दिया और कर्नाटक का हिस्सा बढ़ा दिया था. इसके अलावा कावेरी जल प्रबंधन बोर्ड का अभी गठन नहीं हुआ. इन बातों को लेकर तमिलनाडु में विरोध प्रदर्शन जारी है. इससे पहले, द्रविड़ मुन्नेत्र कड़गम (डीएमके) के नेता एम.के. स्टालिन ने कहा था कि वह आईपीएल मैचों के आयोजन के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन आयोजकों को लोगों की समस्याओं को समझना चाहिए और उसके हिसाब से कदम उठाना चाहिए.