नई दिल्ली: आईपीएल इतिहास में दिल्ली डेयरडेविल्स का नाम सबसे असफल टीमों में गिना जाता है. इस टीम ने एक भी बार फाइनल नहीं खेला है जबकि बीते कुछ वर्षो से यह अंतिम चार में भी जगह नहीं बना पाई है. इस बार टीम ने बदलाव किए हैं और कोलकाता नाइट राइडर्स को दो बार खिताब दिलाने वाले गौतम गंभीर को अपना कप्तान नियुक्त किया है. इस बार दिल्ली की टीम की सबसे अच्छी बात यह है कि उसके पास एक आक्रामक कप्तान और कुछ अच्छे हरफनमौला खिलाड़ी हैं. टीम से संकेत मिल रहा है कि इस सीजन में वह एक नए जज्बे के साथ उतरने जा रही है.

IPL2018: राजस्थान रॉयल्स पर आजीवन प्रतिबंध के खिलाफ राज कुंद्रा ने सुप्रीम कोर्ट में डाली याचिका

गंभीर पहले भी दिल्ली के लिए खेल चुके हैं. एक बार फिर अपनी घरेलू टीम में वापसी से वह उत्साहित होंगे. वहीं टीम को उम्मीद होगी कि गंभीर ने जिस तरह अपनी कप्तानी में कोलकाता की काया पलटी थी, उसी तरह वह दिल्ली के हिस्से में भी वही सफलता लेकर आएंगे. पिछले पांच सीजन में दिल्ली की टीम अंकतालिका में नीचे रही है. 2013 में वह 10 टीमों की तालिका में नौवें स्थान पर रही थी. 2014 में उसे आठ टीमों की तालिका में आठवां स्थान मिला था. 2015 में वो सातवें, 2016 में छठे और पिछले सीजन में भी वह छठे स्थान पर रही थी.

IPL2018: चेन्नई का ये खिलाड़ी धोनी से सीख रहा है क्रिकेट की बारीकियां

पिछले सीजन की टीम को देखा जाए तो दिल्ली ने युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत, श्रेयस अय्यर और दक्षिण अफ्रीका के हरफनमौला खिलाड़ी क्रिस मौरिस को रिटेन किया है. टीम के पास कोलिन मुनरो, जेसन रॉय, डेनियर क्रिस्टियन जैसे आक्रामक बल्लेबाज हैं. जनवरी में हुई नीलामी में दिल्ली ने अपने साथ टी-20 का बड़ा नाम ऑस्ट्रेलिया के ग्लेन मैक्सवेल को नौ करोड़ रुपये में खरीदा था. वहीं कागिसो रबादा को राइट टू मैच के जरिए 4.2 करोड़ में अपने साथ बनाए रखा.

IPL 2018: सबसे ज्यादा शतक जड़ने के मामले में दूसरे नंबर पर कोहली, ये हैं टॉप 5 खिलाड़ी

बीते कुछ सीजन के मुकाबले इस सीजन में दिल्ली की टीम अधिक संतुलित लग रही है. टीम ने इस साल भारत को अंडर-19 विश्व कप का खिताब दिलाने वाले कप्तान पृथ्वी शॉ और मनजोत कालरा को भी अपने साथ जोड़ा है. टीम के पास रबाडा के अलावा मोहम्मद शमी, ट्रैंट बोल्ट, मौरिस, लेग स्पिनर अमित मिश्रा जैसे गेंदबाज हैं.

टीम : गौतम गंभीर (कप्तान), ऋषभ पंत, क्रिस मौरिस, ग्लेन मैक्सवेल, कागिसो रबाडा, अमित मिश्रा, शहबाज नदीम, विजय शंकर, राहुल तेवतिया, मोहम्मद शमी, गौतम गंभीर, ट्रैंट बोल्ट, कोलिन मुनरो, डेनियल क्रिस्टियन, जेसन रॉय, नमन ओझा, पृथ्वी शॉ, गुरकीरत सिंह, अवेश खान, अभिषेक शर्मा, जयंत यादव, हर्षल पटेल, मनजोत कालरा, संदीप लामिचाने, सयन घोष.