नई दिल्ली. आईपीएल-11 में राजस्थान ने दिल्ली को हराकर अपनी पहली जीत दर्ज कर ली है. अपने गढ़ यानी कि जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम पर खेलते हुए राजस्थान की टीम को दिल्ली को 10 रन से हराया. साल 2013 के बाद ये पहला मौका था जब जयपुर में IPL का मैच खेला गया था. इस मुकाबले का नतीजा इस सीजन के पहले चार मुकाबलों से जुदा था क्योंकि यहां पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम जीती थी. इससे पहले IPL-11 के पहले चार मुकाबलों में जीत उस टीम की हुई थी जिसने बाद में यानी कि सेकेंड इनिंग में बल्लेबाजी की थी. बहरहाल, ये सब हुआ कैसे वो बताएं उससे पहले ये समझ लीजिए कि आखिर गंभीर की अगुवाई में दिल्ली की टीम जयपुर में 9 के फेर में फंसी कैसे. यहां 9 के फेर का मतलब है राजस्थान की टीम के अजेय चक्रव्यूह से. दरअसल, दिल्ली के खिलाफ 10 रन से मिली जीत राजस्थान की जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम पर लगातार 9वीं जीत थी.

होमग्राउंड पर लगातार जीत

अपने होमग्राउंड पर लगातार सबसे ज्यादा मैच जीतने के मामले में राजस्थान की टीम मुंबई और चेन्नई के बाद तीसरे नंबर पर है. मुंबई ने 2013-14 के दौरान वानखेड़े पर लगातार 10 मैच जीते थे जबकि चेन्नई ने चेपक पर 2013 से 2015 के दौरान लगातार 10 मुकाबले जीते.

लगातार 7वीं बार हारी दिल्ली

जयपुर में राजस्थान की टीम की लगातार 9वीं जीत इस टीम के खिलाफ दिल्ली की लगातार 7वीं हार है. दूसरे लहजे में कहें तो IPL के पिछले 7 मुकाबलों से दिल्ली की टीम राजस्थान का चक्रव्यूह भेद पाने में नाकाम रह रही है.

IPL 2018: धोनी की टीम को मिला नया एड्रेस, चेन्नई से पुणे शिफ्ट हुआ होम वेन्यू

IPL 2018: धोनी की टीम को मिला नया एड्रेस, चेन्नई से पुणे शिफ्ट हुआ होम वेन्यू

डकवर्थ लुईस का मौका भी दिल्ली ने गंवाया

हालांकि, राजस्थान के चक्रव्यूह को तोड़ने का इस बार उसके पास बेहतरीन मौका था क्योंकि मुकाबला डकवर्थ लुईस में चला गया था. IPL के इतिहास का ये 17वां मैच था जिसका फैसला डकवर्थ लुईस से हुआ था. इससे पहले 16 मुकाबलों में 13 बार जीत सेकेंड बैटिंग करने वाली टीम की हुई थी जबकि सिर्फ 3 बार ही पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम जीती थी. लेकिन, जयपुर में राजस्थान के खिलाफ मैच में सेंकेंड बैटिंग के बावजूद दिल्ली की टीम को हार का सामना करना पड़ा.

बारिश मेें धुली दिल्ली की जीत की उम्मीद

 

बता दें कि जयपुर में खेले गए मैच में जब राजस्थान की टीम की पारी का 18वां ओवर चल रहा था तभी वहां बारिश ने दस्तक दे दिया. रहाणे की कमान वाली राजस्थान का स्कोर उस वक्त 17.5 ओवर में 5 विकेट पर 153 रन था. हालांकि, इसके बाद बारिश की वजह से तकरीबन 3 घंटे तक खेल रुका रहा और जब शुरू हुआ तो दिल्ली को डकवर्थ लुईस नियम के आधार पर 6 ओवर में 70 रन बनाने का लक्ष्य मिला. इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी दिल्ली की टीम सिर्फ 60 रन ही बना सकी और मुकाबला हार गई.

राजस्थान ने साल 2008 और 2013 में अपने होमग्राउंड जयपुर में खेले सभी मैच जीते थे. और, अब 5 साल बाद जब एक बार फिर IPL के मुकाबले लौटकर जयपुर पहुंचे हैं तो भी राजस्थान ने जीत से शुरुआत कर इतिहास दोहराने की हुंकार भर दी है.