नई दिल्ली, साउथ अफ्रीका के खिलाफ पांचवां वनडे जीतकर टीम इंडिया ने इतिहास रचा तो भारत की इस बेमिसाल जीत में बतौर विकेटकीपर महेन्द्र सिंह धोनी के नाम भी एक बड़ी कामयाबी दर्ज हो गई. क्रिकेट फील्ड पर धोनी की बेजोड़ कीपिंग के नाम वैसे तो कई बड़े रिकॉर्ड हैं , लेकिन ये रिकॉर्ड थोड़ा खास है.

धोनी अब भारत के पहले ऐसे विकेटकीपर बन गए हैं जिनके नाम 500 से ज्यादा बल्लेबाजों को पवेलियन भेजने का रिकॉर्ड दर्ज हो चुका है. धोनी ने ये रिकॉर्ड लिस्ट ए क्रिकेट में बनाया है. कीपिंग के अपने खास अंदाज के लिए जाने जाने वाले धोनी को ये कामयाबी साउथ अफ्रीका के खिलाफ 5वें वनडे में मिली. धोनी के नाम अब लिस्ट ए क्रिकेट के 390 मैचों में 502 शिकार दर्ज हो चुके हैं. इनमें धोनी के 377 कैच और 125 स्टंपिंग शामिल है.

दुनिया में लिस्ट ए क्रिकेट में विकेट के पीछे धोनी से ज्यादा शिकार अब तक सिर्फ 7 विकेटकीपरों ने पकड़े हैं. यानी, वर्ल्ड क्रिकेट में धोनी इस मामले में आठवें नंबर पर हैं. जिन 7 विकेटकीपरों ने धोनी से पहले ये कामयाबी हासिल की उनमें पहले नंबर पर 660 शिकार के साथ स्टीव रोड्स हैं, 598 शिकार कर श्रीलंका के कुमार संगकारा दूसरे नंबर पर हैं, ऑस्ट्रेलिया के एडम गिलक्रिस्ट 590 शिकार के साथ तीसरे नंबर पर हैं, 562 शिकार पकड़ने वाले जैक रसेल चौते नंबर पर हैं, 527 शिकार कर वॉरेन हग 5वें नंबर पर हैं, पॉल निक्सन 515 शिकार के साथ छठे नंबर पर है, जबकि साउथ अफ्रीका के मार्क बाउचर 511 शिकार पकड़कर इस लिस्ट में 7वें नंबर पर हैं.

अजहर, गांगुली, धोनी पर भारी विराट, विदेश में हासिल की सबसे बड़ी कामयाबी

अजहर, गांगुली, धोनी पर भारी विराट, विदेश में हासिल की सबसे बड़ी कामयाबी

साउथ अफ्रीका के खिलाफ मौजूदा वनडे सीरीज में भी धोनी अपनी कीपिंग का कमाल दिखाने में कामयाब रहे हैं. धोनी ने 5 वनडे मैचों में अब तक 5 शिकार किए हैं जिसमें 3 कैच और 2 स्टम्पिंग शामिल है. बता दें कि साउथ अफ्रीका के खिलाफ चल रही वनडे सीरीज में ही धोनी वनडे में 400 शिकार करने वाले भारत के पहले विकेटकीपर भी बने हैं.

भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 6 वनडे मैचों की सीरीज में 4-1 की बढ़त हासिल करते हुए सीरीज अपने नाम कर ली है और अब उसकी नजर सेंचुरियन में सीरीज के आखिरी वनडे को भी जीतने पर होगी. सेंचुरियन वनडे में दुनिया भर की नजरें वनडे क्रिकेट में धोनी के 10000 रन पूरे होने पर भी जमी होगी जिससे अब वो सिर्फ 33 रन दूर हैं.