नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने बुधवार को कहा कि अगले साल दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर भारतीय टीम के अच्छे प्रदर्शन का दारोमदार काफी हद तक तेज गेंदबाजों के कंधों पर रहेगा. भारतीय टीम अगले साल जनवरी में दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर होगी, जिसमें वह तीन टेस्ट मैच, छह वनडे मैच और तीन टी-20 मैचों की सीरीज खेलेगी. इस दौरे की शुरुआत पांच जनवरी से हो रही है.

रणजी ट्रॉफी में सौराष्ट्र क्रिकेट टीम का प्रतिनिधित्व करने वाले बल्लेबाज पुजारा ने फिरोजशाह कोटला मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ खेले गए तीसरे मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मुझे लगता है कि दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले भारतीय टीम पूरी तरह से तैयार होगी.

पुजारा ने कहा कि हम इस दौरे से पहले महत्वपूर्ण चीजों पर तैयारियों के बारे में बात कर रहे हैं. कई खिलाड़ियों के पास इस दौरे से पहले तैयारी के लिए काफी समय होगा. हमें दक्षिण अफ्रीका का अच्छा अनुभव है और इससे हमें मदद मिलेगी.

CSK में धोनी की वापसी का रास्ता साफ, 5 खिलाड़ियों को रिटेन कर सकेंगे फ्रेंचाइजी

CSK में धोनी की वापसी का रास्ता साफ, 5 खिलाड़ियों को रिटेन कर सकेंगे फ्रेंचाइजी

उन्होंने कह कि भारतीय टीम की तेज गेंदबाजी अब काफी बेहतर हो गई है और मुझे लगता है कि टीम के तेज गेंदबाज दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों के लिए इस सीरीज में परेशानी का सबब बन सकते हैं. दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टेस्ट सीरीज के लिए पांच तेज गेंदबाज इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह को भारतीय टीम में शामिल किया गया है.

29 वर्षीय पुजारा ने स्पिन गेंदबाजों रविंचद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा की जोड़ी को भी सराहा. पुजारा ने कहा कि मैं यह नहीं कहूंगा कि यह केवल स्पिन गेंदबाज हैं. अगर आप इनके खेल की ओर देखें, तो इन दोनों ने शानदार प्रदर्शन किया है. अश्विन और जडेजा सबसे खतरनाक गेंदबाज हैं, जो किसी भी प्रतिद्वंद्वी टीम को दबाव में डाल सकते हैं.