नई दिल्ली: टीम इंडिया के दिग्गज  खिलाड़ी हरभजन सिंह ने शनिवार को कहा कि पंजाब में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है लेकिन राज्य को युवाओं को उनका कौशल निखारने के लिए बेहतर बुनियादी ढांचे के निर्माण और ज्यादा सुविधाएं मुहैया कराने की जरूरत है. इस ऑफ स्पिनर ने चंडीगढ़ में एक प्रोग्राम में कहा, ‘‘इन दिनों बहुत कम बच्चे आउटडोर खेलों के लिए आ रहे हैं. उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए हमें बेहतर बुनियादी ढांचे का निर्माण करना होगा और उन्हें ज्यादा सुविधाएं मुहैया करानी होंगी.’’

हरभजन ने यह भी कहा कि पंजाब में खेल संस्कृति में एक नयी जान डालने की जरूरत है. उन्होंने कहा, ‘‘हम काफी पीछे रह गए हैं. अगर आप देखें तो मेरे और युवी (युवराज सिंह) के बाद क्रिकेट में पंजाब का कोई भी खिलाड़ी भारत के लिए नहीं खेला. मैं यह मानने को तैयार नहीं हूं कि हमारे पास प्रतिभा की कमी है, प्रतिभा भरपूर है.’’

विराट कोहली का मैच देखने पहुंची अनुष्का शर्मा, फ्लाइंग किस देकर किया चीयर

हरभजन सिंह टीम इंडिया से काफी समय से बाहर चल रहे हैं. हालांकि उनका इंटरनेशनल करियर प्रभावी रहा है. भज्जी ने 236 इंटरनेशनल वनडे मैचों में 269 विकेट झटके हैं. इस दौरान उन्होंने 3 बार पांच या इससे ज्यादा विकेट लिए हैं. हरभजन का वनडे में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 31 रन देकर 5 विकेट लेना रहा है. उन्होंने 103 टेस्ट मैचों में 417 विकेट लिए हैं. हरभजन ने टेस्ट मैचों में 25 बार पांच या इससे ज्यादा विकेट लिए हैं और 5 बार 10 विकेट लिए हैं.

पंजाब के खिलाफ चेन्नई का मुकाबला कल, अश्विन को धोनी से मिलेगी कड़ी चुनौती

बता दें कि हरभजन सिंह इंडियन टी-20 लीग के पिछले सीजन में मुंबई के खिलाड़ी थे. लेकिन इस बार उन्होंने चेन्नई ने खरीद लिया है. अगर भज्जी के आईपीएल करियर पर नजर डालें तो वो भी काफी अच्छा रहा है. उन्होंने अब तक कुल 138 मुकाबले खेले हैं, जिनमें 128 विकेट झटके हैं. इस दौरान भज्जी का सर्वश्रेष्ठ स्कोर 18 रन देकर 5 विकेट रहा है. उनके लिए इस लीग का सीजन 2015 काफी अच्छा रहा है. भज्जी ने 2015 में कुल 15 मैच खेले थे, जिनमें 18 विकेट चटकाए थे. इस दौरान उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 27 रन देकर 3 विकेट लेना रहा था.