नई दिल्ली: सिद्धार्थ कौल और साकिब अल हसन की उम्दा गेंदबाजी के बाद सलामी बल्लेबाज शिखर धवन के अर्धशतक से हैदराबाद ने इंडियन टी-20 लीग में सोमवार को हैदराबाद में एकतरफा मुकाबले में राजस्थान को 9 विकेट से हराया. राजस्थान के 126 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए हैदराबाद की टीम ने धवन की 57 गेंद में 13 चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 77 रन की पारी और कप्तान केन विलियमसन (35 गेंद में नाबाद 36) के साथ उनकी दूसरे विकेट की 121 रन की अटूट साझेदारी की बदौलत 25 गेंद शेष रहते एक विकेट पर 127 रन बनाकर आसान जीत दर्ज की.

इससे पहले कौल (17 रन पर दो विकेट) और साकिब (23 रन पर दो विकेट) की धारदार गेंदबाजी के सामने राजस्थान नौ विकेट पर 125 रन ही बना सकी. हैदराबाद की सटीक गेंदबाजी के सामने टीम ने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए, जिससे टीम पूरी पारी के दौरान कभी भी लय में नजर नहीं आई. बिली स्टेनलेक (29 रन पर एक विकेट), भुवनेश्वर कुमार (30 रन पर एक विकेट) और राशिद खान (23 रन पर एक विकेट) ने भी एक-एक विकेट चटकाया. हैदराबाद के गेंदबाजों के दबदबे का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि राजस्थान की पारी के दौरान सिर्फ 12 चौके लगे. टीम अंतिम आठ ओवर में सिर्फ 38 रन ही बना सकी. राजस्थान की ओर से संजू सैमसन शीर्ष स्कोरर रहे जिन्होंने 42 गेंद में पांच चौकों की मदद से 49 रन बनाए.

राजस्थान के लिए आयी बुरी खबर, टीम का दिग्गज खिलाड़ी हुआ बाहर

लक्ष्य का पीछा करने उतरे हैदराबाद की शुरुआत भी खराब रही टीम ने दूसरे ओवर में ही ऋद्धिमान साहा (05) का विकेट गंवा दिया, जिन्होंने जयदेव उनादकट की गेंद को हवा में लहराकर बेन लाघलिन को मिड ऑफ पर आसान कैच थमाया. इससे पहले धवल कुलकर्णी के पहले ओवर में धवन भाग्यशाली रहे जब स्लिप में अजिंक्य रहाणे ने उनका आसान कैच टपकाया. उनादकट के अगले ओवर में भी गेंद उनके बल्ले का बाहरी किनारा लेकर पहली स्लिप के ऊपर से चार रन के लिए चली गई. धवन ने धवल कुलकर्णी के अगले ओवर में चौका और छक्का जड़ा जबकि विलियमसन ने उनादकट पर चौका और छक्का मारा. धवन ने कृष्णप्पा गौतम का स्वागत लगातार दो चौकों के साथ किया.

चेन्नई की मुश्किलें बढ़ीं, जाधव के बाद अब यह दिग्गज खिलाड़ी हुआ बाहर

सनराइजर्स ने पावर प्ले में एक विकेट पर 57 रन बनाए. धवन ने बेन स्टोक्स की पहली दो गेंदों पर भी चौके मारे. उन्होंने स्टोक्स पर चौके के साथ 33 गेंद में अर्धशतक पूरा किया. उन्होंने लाघलिन पर चौके के साथ 12वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया. टीम को अंतिम आठ ओवर में जीत के लिए 22 रन की दरकार थी और उसे इस लक्ष्य को हासिल करने में कोई परेशानी नहीं हुई. इससे पहले हैदराबाद के नये कप्तान विलियमसन ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया और उनके गेंदबाजों ने रायल्स के बल्लेबाजों को खुलकर खेलने नहीं दिया.

शाहरुख ने बताई दिल की बात, अबराम क्रिकेट नहीं बल्कि इस खेल में करें भारत का प्रतिनिधित्व

गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण में शामिल होने के कारण क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया द्वारा एक साल के लिए प्रतिबंधित स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर क्रमश: राजस्थान और हैदराबाद के कप्तान थे और इनके आईपीएल में खेलने पर प्रतिबंध लगने के बाद टीमों में इन दोनों की जगह अगुआई करने के लिए अजिंक्य रहाणे और विलियमसन को चुना. डार्सी शॉर्ट पहले ही ओवर में तेज रन लेने की कोशिश में विलियमसन के सटीक निशाने का शिकार बने. उन्होंने चार रन बनाए. तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे सैमसन ने भुवनेश्वर पर दो चौके मारे जबकि सलामी बल्लेबाज रहाणे ने भी साकिब और स्टेनलेक पर चौके जड़े.

राजस्थान ने पावरप्ले में एक विकेट पर 48 रन बनाए. हालांकि रहाणे 13 गेंद में सिर्फ 13 रन बनाने के बाद कौल की गेंद पर राशिद को कैच दे बैठे. स्टेनलेक ने इसके बाद बेन स्टोक्स (05) को विलियमसन के हाथों कैच कराके टीम का स्कोर तीन विकेट पर 63 रन किया. राजस्थान की टीम बीच के ओवरों में 27 गेंद तक कोई बाउंड्री नहीं लगा पाई. राहुल त्रिपाठी ने राशिद पर लगातार दो चौकों के साथ बाउंड्री के सूखे को खत्म किया.

धोनी के खिलाफ कार्तिक की होगी अग्नि परीक्षा, चेन्नई के होम ग्राउंड में होगा मुकाबला

साकिब ने 14वें ओवर में त्रिपाठी (17) और सैमसन को पवेलियन भेजकर राजस्थान को दोहरा झटका दिया. त्रिपाठी ने मनीष पांडे जबकि सैमसन ने राशिद को कैच थमाया. कौल ने कृष्णप्पा गौतम (00) को विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा के हाथों कैच कराके रायल्स को छठा झटका दिया. श्रेयष गोपाल ने राशिद पर चौके के साथ 16वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया. राशिद ने इसके बाद जोस बटलर (06) को बोल्ड किया. गोपाल ने भुवनेश्वर की गेंद पर यूसुफ पठान को कैच दिया.