नई दिल्ली। एस श्रीसंत पर लगा आजीवन बैन हटाने के खिलाफ अपील करने के बीसीसीआई के फैसले के बावजूद इस तेज गेंदबाज ने प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में वापसी का भरोसा जताया. बीसीसीआई ने 34 साल के इस तेज गेंदबाज के ऊपर लगा आजीवन प्रतिबंध हटाने के खिलाफ केरल हाई कोर्ट की खंड पीठ में अपील करने करने का फैसला किया है.

नाराज श्रीसंत ने अपने ट्विटर पेज पर लिखा, ‘बीसीसीआई मैं भीख नहीं मांग रहा, मैं अपनी आजीविका वापस मांग रहा हूं. यह मेरा अधिकार है. तुम लोग भगवान से ऊपर नहीं हो. मैं फिर खेलूंगा.’

उन्होंने कहा, ‘बीसीसीआई यह आप किसी के साथ सबसे बदतर चीज कर सकते हैं और वह भी उसके प्रति जो एक बार नहीं बल्कि बार-बार निर्दोष साबित हुआ हो. नहीं पता कि आप ऐसा क्यों कर रहे हो.’

बीसीसीआई ने 2013 आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग में कथित भूमिका के लिए श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगाया था. केरल हाई कोर्ट की एकल पीठ ने हालांकि पिछले सोमवार को आदेश देते हुए केरल के इस तेज गेंदबाज पर लगा प्रतिबंध हटा दिया था. बीसीसीआई हालांकि अपने इस रवैये पर अडिग है कि वह इस तेज गेंदबाज को तुरंत वापसी नहीं करने देगा.

श्रीसंत ने भारत की ओर से 27 टेस्ट, 53 वनडे और 10 टी20 खेले हैं. उन्होंने पिछली बार भारत का प्रतिनिधित्व अगस्त 2011 में किया था.