नई दिल्ली: नेपाल से हारकर करो या मरो की स्थिति में पहुंची मौजूदा चैंपियन भारतीय अंडर-19 टीम लीग चरण के अपने अंतिम मैच में बांग्लादेश से आठ विकेट की शिकस्त झेलकर एशिया कप अंडर-19 क्रिकेट टूर्नामेंट से बाहर हो गई. भारत की यह तीन दिन में दूसरी हार है.

अंडर-19 एशिया कप 2017: नेपाल ने भारत को हराकर सबको चौंकाया

अंडर-19 एशिया कप 2017: नेपाल ने भारत को हराकर सबको चौंकाया

बारिश के कारण मैच 32 ओवर का कर दिया गया था. भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए आठ विकेट पर 187 रन बनाए. बांग्लादेश से चार ओवर शेष रहते ही दो विकेट पर 191 रन बनाकर आसान जीत दर्ज की.

भारतीय टीम की हार के कारण ग्रुप ए से बांग्लादेश और नेपाल सेमीफाइनल में पहुंचने में सफल रहे. ग्रुप बी से पाकिस्तान और अफगानिस्तान ने अंतिम चार में जगह बनाई. अगले साल न्यूजीलैंड में होने वाले विश्व कप को ध्यान में रखकर भारत ने इस टूर्नामेंट में कुछ नए खिलाड़ियों को उतारा था.

पृथ्वी शॉ और शुभम गिल जैसे दमदार खिलाड़ियों की अनुपस्थिति में भारतीय टीम की कमजोरी खुलकर सामने आई. भारत की तरफ से बांग्लादेश के खिलाफ कोई भी बल्लेबाज अर्धशतक तक नहीं पहुंच पाया.

रविवार को नेपाल से हारने के बाद भारत के लिये यह मैच करो या मरो जैसा बन गया था. उसकी तरफ से सातवें नंबर के बल्लेबाज सलमान खान ने सर्वाधिक नाबाद 39 रन बनाए. उनके अलावा अनुज रावत ने 34 और हार्विक देसाई ने 21 रन का योगदान दिया.

बांग्लादेश ने पिनाक घोष के नाबाद 81 रन की मदद से आसानी से जीत दर्ज की. उनके अलावा मोहम्मद ताविद हिरदोय ने नाबाद 48 रन बनाए. इस बीच ग्रुप ए के अन्य मैच में नेपाल ने मलेशिया को आठ विकेट से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया.

मलेशिया का स्कोर एक समय बिना किसी नुकसान के 33 रन था लेकिन उसकी पूरी टीम 45 रन पर आउट हो गयी. नेपाल ने 5.2 ओवर में लक्ष्य हासिल कर दिया. उधर ग्रुप बी के एक मैच में अफगानिस्तान ने यूएई को आसानी से 134 रन से हराकर अंतिम चार में जगह बनाई.

नेपाल से भी मिली करारी हार 

इससे पहले कुआंलालंपुर में खेले गए ग्रुप ए के दूसरे मैच में भारत को नेपाल से करारी हार मिली थी. बेयुमास ओवल में खेले गए मुकाबले में नेपाल ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 185/8 का स्कोर बनाया, जबकि भारतीय टीम सिर्फ 166 रन ही बना सकी.