नई दिल्ली.ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में कॉमनवेल्थ खेलों के आगाज के साथ ही भारतीय खिलाड़ियों का दल इसमें अपने मिशन 500 को कामयाब बनाने में जुट जाएगा. गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत ने 200 से ज्यादा खिलाड़ियों का दल भेजा है, और इतने बड़े दल के लिए मिशन को कामयाब बनाना मुश्किल नहीं लग रहा. बस जरुरत है हौसले की और सच्ची लगन के साथ उम्दा प्रदर्शन की. अब आप सोच रहे होंगे कि ये मिशन 500 है क्या. तो हम आपको बता दें कि इसका ताल्लुक भारतीयों खिलाड़ियों के कॉमनवेल्थ खेलों में अब तक जीते पदकों की संख्या से है.

भारत का ‘मिशन 500’

भारत ने अब तक 16 कॉम्नवेल्थ खेलों में हिस्सा लिया हैं, जिसमें उसने 155 गोल्ड के साथ 438 मेडल जीते हैं. यानी, वो अपने कॉमनवेल्थ खेलों के 500 पदकों की संख्या से बस 62 पदक दूर है. इन 62 पदकों के फासले को 200 से ज्यादा एथलीटों का भारतीय दल गोल्ड कोस्ट में पूरा कर सकता है.

गंभीर-अफरीदी की ट्विटर फाइट में 'रेफरी' बने फैंस ने लगाया गाली-गलौज का तड़का

गंभीर-अफरीदी की ट्विटर फाइट में 'रेफरी' बने फैंस ने लगाया गाली-गलौज का तड़का

टॉप-4 में एंट्री पर नजर

भारत के लिए कॉमनवेल्थ गेम्स खासे रहे महत्वपूर्ण हैं. 2010 में अपनी मेजबानी में 101 मेडल जीतने वाला भारत 2014 के ग्लास्गो कॉमनवेल्थ गेम्स में 65 मेडल ही जीत पाया. साथ ही मेडल टेबल में वह 16 साल बाद टॉप-4 से बाहर हो गया था. यानी, गोल्ड कोस्ट में मिशन 500 की कामयाबी को अमलीजामा पहनाने के साथ-साथ भारत के सामने मेडल टैली के टॉप -4 में एंट्री लेने की भी बड़ी चुनौती है.

भारतीय खिलाड़ियों की चुनौती

'कलाई के कलाकार' को मिला 'उंगलियों के उस्ताद' का साथ, IPL में विराट की बनेगी बात

'कलाई के कलाकार' को मिला 'उंगलियों के उस्ताद' का साथ, IPL में विराट की बनेगी बात

गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत कुल 10 ईवेंट में अपनी दावेदारी पेश कर रहा है. 2014 कॉमनवेल्थ खेल में इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और कनाडा पहले तीन स्थान पर रहे थे, जबकि मेजबान स्कॉटलैंड चौथे नंबर और भारत 5वें नंबर पर रहा था. इस बार इनमें भारत के लिए ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड को चुनौती देना तो फिलहाल मुश्किल है. लेकिन, उसका स्कॉटलैंड को पीछे छोड़ना तय है. इसके अलावा भारतीय खिलाड़ी कनाडा की टीम की नाक में दम करने में भी सक्षम हैं. इससे साफ है कि भारत 500 मेडल के आंकड़े को पार करते हुए मेडल टैली के टॉप फोर में भी अपनी जगह आराम से पक्की कर सकता है.