चेन्नई। भारत के उपकप्तान रोहित शर्मा ने संकेत दिए हैं कि उनके नियमित ओपनिंग जोड़ीदार शिखर धवन की जगह अजिंक्य रहाणे को मिल सकती है. धवन निजी कारणों से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले तीन वनडे में नहीं खेल पाएंगे. धवन को अपनी बीमार पत्नी के साथ समय बिताने की अनुमति मिल गई है जिसके कारण वह 17 सितंबर से शुरू होने वाली पांच वनडे मैचों की सीरीज के पहले तीन मैचों में नहीं खेल पाएंगे.

रोहित ने कहा, ‘हमारी बेंच स्ट्रेंथ काफी मजबूत है. निश्चित तौर पर शिखर की कमी खलेगी. वह शानदार फॉर्म में थे और टीम की हाल की सफलताओं में उन्होंने अहम भूमिका निभाई थी. चैंपियंस ट्रॉफी से लेकर श्रीलंका के दौरे तक उन्होंने टीम के लिए प्रभावशाली प्रदर्शन किया. लेकिन हमारे पास उनकी जगह लेने के लिए कुछ खिलाड़ी हैं.’ उन्होंने कहा, ‘अजिंक्य उनमें से एक हैं. वेस्टइंडीज में उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया था और मैन ऑफ द सीरीज पुरस्कार हासिल किया था. वह किसी भी समय यह भूमिका निभा सकते हैं. हमारे पास ऐसे खिलाड़ी हैं जो इस भूमिका में अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं.’

रोहित से पूछा गया कि साथी बदलने से क्या उन्हें अपनी रणनीति बदलनी होगी, उन्होंने कहा, ‘ईमानदारी से कहूं तो इसमें साथी कोई मसला नहीं है. यह परिस्थितियों और पिच पर निर्भर करता है. आखिर में आपका असली मकसद अपनी टीम को अच्छी शुरुआत देना ही होता है. उन्होंने कहा, ‘अगर मैं देखता हूं कि दूसरे छोर पर कोई संघर्ष कर रहा है तो मैं मुख्य भूमिका निभाता हूं और अगर वे देखते हैं कि मैं संघर्ष कर रहा हूं तो वे यह भूमिका निभाते हैं. हम इसी रणनीति से खेलते हैं.’ श्रीलंका में मध्यक्रम में खेलने वाले केएल राहुल की भूमिका के बारे में रोहित ने कहा कि उनकी पोजीशन को लेकर कोई अस्पष्टता नहीं है.

भारत vs ऑस्ट्रेलिया वनडे सीरीजः टीम इंडिया के ये 5 स्टार खिलाड़ी मचाएंगे धमाल!

भारत vs ऑस्ट्रेलिया वनडे सीरीजः टीम इंडिया के ये 5 स्टार खिलाड़ी मचाएंगे धमाल!

उन्होंने कहा, ‘कोच और कप्तान दोनों ने प्रत्येक खिलाड़ी की भूमिका के बारे में स्पष्ट तौर पर कहा है. श्रीलंका दौरे से पहले कप्तान ने कहा था कि वह राहुल को चौथे नंबर के बल्लेबाज के रूप में देख रहे हैं.’ रोहित ने कहा, ‘अजिंक्य ने वेस्टइंडीज में पारी की शुरुआत की. यह विकल्प हो सकता है. इसके अलावा जब टीम में इस तरह की बहुमुखी प्रतिभा के धनी खिलाड़ी हों तो इससे कप्तान और कोच थोड़ी राहत महसूस करते हैं. वे जानते हैं कि ये खिलाड़ी किसी भी स्थान पर खेल सकते हैं.’

उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों की बल्लेबाजी लाइनअप में पोजिशन पूरी तरह टीम की जरूरतों पर निर्भर है. रोहित ने कहा, ‘आपको टीम की जरूरतों के हिसाब से खेलना होगा. मैं भी इसी तरह से ओपनर बना था क्योंकि तब टीम चाहती थी कि मैं पारी का आगाज करूं.’ ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रोहित का रिकॉर्ड अच्छा है. वह सभी टीमों के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करना चाहते हैं लेकिन ऑस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम के खिलाफ लगातार अच्छा प्रदर्शन करने से वह खुश हैं.

उन्होंने कहा, ‘मैं सभी विपक्षी टीमों के खिलाफ इस तरह का प्रदर्शन करना चाहता हूं. ऑस्ट्रेलिया बहुत मजबूत प्रतिद्वंद्वी है और इससे मुझे खुशी होती है कि मैंने उनके खिलाफ अच्छा प्रदर्शन किया है.’ रोहित ने टीम में कलाई के दो स्पिनरों (युजवेंद्र चाहल और कुलदीप यादव) की मौजूदगी को टीम के लिए अच्छा बताया. उन्होंने कहा, ‘मैं उन्हें रहस्यमयी स्पिनर के तौर पर देखता हूं। आप अनुमान नहीं लगा सकते कि वे किस तरह की गेंदबाजी करेंगे. कप्तान उनके टीम में होने से काफी सहज हैं. वे महत्वपूर्ण मौकों पर विकेट दिलवा सकते हैं.’

रोहित ने कहा, ‘श्रीलंका में ऐसा हुआ. चाहल जैसे गेंदबाज को पहले मैच में मौका मिला. तब श्रीलंका के ओपनिंग बल्लेबाज अच्छी तरह से पारी आगे बढ़ा रहे थे लेकिन उन्होंने हमें विकेट दिलाया. कुलदीप ने वेस्टइंडीज में मौका मिलने पर ऐसा किया था. यहां तक कि नेट्स पर जब हम उनका सामना करते हैं तो हम नहीं जानते कि अगली गेंद कैसी होगी.’