मोहाली (पंजाब)। इंग्लैंड के साथ पंजाब क्रिकेट संघ (पीसीए) स्टेडियम में जारी तीसरे टेस्ट मैच में 90 रनों की बेहतरीन पारी खेलने वाले भारत के हरफनमौला खिलाड़ी रवींद्र जडेजा ने कहा है कि निचले क्रम का प्रदर्शन टीम के लिए काफी उपयोगी साबित होगा। भारतीय निचले क्रम ने इस मैच में बल्ले से शानदार योगदान देते हुए मेजबानों को पहली पारी में 417 के स्कोर तक पहुंचाया।

इंग्लैंड द्वारा पहली पारी में बनाए गए 283 रनों के जवाब में भारत ने 204 रनों पर ही अपने छह विकेट गंवा दिए थे लेकिन इसके बाद जडेजा, रविचन्द्रन अश्विन (71) और जयंत यादव (55) ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए टीम को 400 के पार पहुंचाय। जडेजा ने इस मैच में अपना सर्वश्रेष्ठ स्कोर भी बनाया। यह भी पढ़े-मोहाली टेस्ट: भारत को मजबूती देने में जुटे हैं विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा

तीसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद जडेजा ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, “अगर निचले क्रम के बल्लेबाज रन बनाते हैं तो यह हर टीम के लिए अतिरिक्त लाभ होता है। यह हमारे लिए अच्छी बात है कि हमने अभी तक बल्ले से अच्छा योगदान दिया है।”

जडेजा ने कहा, “टेस्ट क्रिकेट में सभी कुछ हालत पर निर्भर करता है। अगर आपकी टीम अच्छी स्थिति में है तो जाहिर सी बात है कि विपक्षी टीम दवाब महसूस करेगी और हर फिर हर चीज अच्छी लगती है।”

बल्लेबाजी पर जयंत यादव ने कहा कि इस पारी के बाद उनका आत्मविश्वास काफी बढ़ा है। जयंत ने इस मैच में अपना पहला अर्धशतक जड़ा और एक विकेट भी लिया।

उन्होंने कहा, “पहला अर्धशतक लगाकर अच्छा लग रहा है। जड़ (जडेजा) के साथ बल्लेबाजी करने में मजा आया। निश्चित ही इस पारी से और विकेट से आत्मविश्वास बढ़ा है। अगर मैं बल्लेबाजी अच्छी करता हूं तो गेंदबाजी में इसका फायदा होगा।”उन्होंने कहा, “इस टीम में सबसे अच्छी बात है कि इसने मुझे ऐसा नहीं लगने दिया कि मैं पहली बार खेल रहा हूं। उन्होंने अपना अनुभव मुझसे साझा किया जो मुझे मदद करेगा।”