नई दिल्ली. कॉमनवेल्थ गेम्स के दूसरे दिन भी भारतीय वेटलिफ्टर छाए रहे. उनकी ताकत का परचम गोल्ड कोस्ट में लहराता रहा. इसका नतीजा ये हुआ कि भारत की झोली में चौथा मेडल आ गिरा. भारत के लिए ये चौथा मेडल दीपक लाथर ने जीता. लाथर ने पुरुषों के 69 किलोग्राम भारवर्ग में 295 किलो का भार उठाते हुए ब्रॉन्ज मेडल पर कब्जा किया. भारत ने गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में अब तक 4 मेडल जीते हैं, जिसमें 2 गोल्ड, 1 सिल्वर और 1 ब्रॉन्ज शामिल हैं. कमाल की बात है कि ये सभी मेडल भारत को वेटलिफ्टिंग से ही मिले हैं.

 

ऐसा जीता दीपक ने ब्रॉन्ज

पुरुषों के 69 किलो वेटलिफ्टिंग प्रतियोगिता में दीपक लाथर ने अपने प्रतिद्वन्दियों को जोरदार टक्कर दी. स्नैच राउंड में उन्होंने 136 किलो का भार उठाया. हालांकि, अपने तीसरे प्रयास में उन्होंने 138 केजी वजन उठाने की कोशिश तो की लेकिन कामयाबी हाथ नहीं लगी. इसके बाद क्लीन एंड जर्क में 159 किलो का भार उठाया. यहां भी दीपक ने अपना दमखम दिखाते हुए ब्रॉन्ज के रंग को सिल्वर में बदलने की पूरी कोशिश की, लेकिन कामयाब नहीं हुए. स्नैच और क्लीन एंड जर्क मिलाकार दीपक लाथर ने कुल 295 किलो वडजन उठाया और वो लिस्ट में तीसरे नंबर पर रहे यानी कि उन्हें ब्रॉन्ज मेडल से ही संतोष करना पड़ा. इस प्रतियोगिता का सिल्वर मेडल श्रीलंका के वेटलिफ्टर के नाम रहा जिसने 297 केजी वजन उठाया तो वहीं गोल्ड मेडल पर वेल्स के वेटलिफ्टर का कब्जा रहा, डजिसने 299 किलो का वजन उठाया.

भारतीय वेटलिफ्टर्स का ‘चौका’

इससे पहले गोल्ड कोस्ट में भारतीय दल ने अपने दूसरे दिन की शुरुआत सोने के चमकते मेडल को जीतकर की. महिलाओं की 53 केजी कैटेगरी में संजीता चानू ने भारत के लिए गोल्ड जीता. वहीं पहले दिन मीराबाई चानू ने महिलाओं की 48 केजी कैटेगरी में भारत को पहला गोल्ड दिलाया था. जबकि पुरुषों के 56 किलो कैटेगरी में भारत के गुरुराजा पुजारी ने वेटलिफ्टिंग का सिल्वर मेडल जीता था. और, अब बैक टू बैक इन 3 कामयाबियों के बाद दीपक लाथर ने ब्रॉन्ज मेडल जीतकर कॉमनवेल्थ गेम्स में मेडल जीत का चौका लगा दिया है.