नई दिल्ली: भारत की दिग्गज महिला खिलाड़ी सायना नेहवाल ने ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में जारी 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स के पांचवें दिन सोमवार को बैडमिंटन की मिश्रित टीम स्पर्धा का स्वर्ण भारत की झोली में डाल दिया. भारत ने कैरारा स्पोर्ट्स एरेना में खेले गए फाइनल मैच में मलेशिया को 3-1 से मात देकर सोने पर कब्जा जमाया. यह पहली बार है जब भारत ने बैडमिंटन टीम इवेंट में गोल्ड मेडल जीता है.

फाइनल मुकाबले का पहला मैच मिश्रित युगल का था जिसमें सात्विक रंकीरेड्डी और अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी का सामना मलेशिया की पेंग सून चान और लियू यिंग गोह से था. भारतीय जोड़ी को यह मुकाबला जीतने के लिए थोड़ा संघर्ष करना पड़ा. पहला गेम जीतने के बाद भारतीय जोड़ी दूसरा गेम हार गई. सत्विक और पोनप्पा की जोड़ी ने चान और यिंग की जोड़ी को 21-14, 15-21, 21-15 से मात दी.

CWG2018: भारत को मिला 9वां गोल्ड, पुरुष टेबल टेनिस टीम ने जीता मेडल

दूसरा मैच पुरुष एकल वर्ग का था जहां भारत के वर्ल्ड नंबर-2 किदाम्बी श्रीकांत का सामना दिग्गज खिलाड़ी ली चोंग वेई से था. श्रीकांत ने पूर्व नंबर-1 वेई को सीधे गेमों में 21-17, 21-14 से मात दी.

मुकाबले का तीसरा मैच पुरुष युगल वर्ग का था जहां भारत की जीत का दारोमदार सात्विक और चिराग शेट्टी की जोड़ी पर था. उनके सामने वी शेम गोह और वी कियोंग तान की जोड़ी थी. मलेशियाई जोड़ी ने भारतीय जोड़ी को 21-15, 22-20 से मात देकर अपनी टीम को पहली जीत दिलाई.

कॉमनवेल्थ गेम्स : जीतू के गोल्ड के बाद शूटर मेहुली घोष को सिल्वर, भारत के खाते में अब तक 17 मेडल

चौथा मैच महिला एकल वर्ग का था जिसमें टीम की जिम्मेदारी लंदन ओलम्पिक की कांस्य पदक विजेता सायना पर थी. सायना ने कड़े मुकाबले में सोनिया चेह को तीन गेमों तक चले कड़े मुकाबले में 21-11, 19-21, 21-9 से मात देकर भारत की झोली में स्वर्ण डाला.

400 मीटर के फाइनल में पहुंचे भारतीय एथलीट अनस :

भारतीय एथलीट मोहम्मद अनस ने पांचवें दिन सोमवार को पुरुषों की 400 मीटर स्पर्धा के फाइनल में प्रवेश कर लिया. मोहम्मद अनस ने सेमीफाइनल की तीसरी हीट में शानदार प्रदर्शन करते हुए पहला स्थान हासिल किया. अनस ने 45.44 सेकेंड का समय निकाला.

मैक्कुलम ने 8 रन बनाते ही हासिल की बड़ी उपलब्धि, ऐसा करने वाले वर्ल्ड क्रिकेट के दूसरे बल्लेबाज बने

सेमीफाइनल में तीन हीट हुई और हर हीट में से शीर्ष दो खिलाड़ी ने फाइनल के लिए क्वालीफाई किया। इन छह खिलाड़ियों के अलावा, तीनों हीट में रेस को सबसे तेजी से समाप्त करने वाले अगले दो खिलाड़ियों को भी फाइनल में प्रवेश मिला. फाइनल में कुल आठ खिलाड़ी हिस्सा लेंगे. तीसरी हीट में दूसरे पायदान पर जमैका के रूशीन मैक्डोनाल्ड रहे। उन्होंने 45.77 का समय निकाला.

पदक से चूके गुरदीप :

भारतीय खिलाड़ी गुरदीप सिंह पांचवें दिन भारोत्तोलन की 105 किलोग्राम से ज्यादा भारवर्ग की स्पर्धा में पदक से चूक गए. गुरदीप को स्पर्धा में चौथा स्थान मिला. उन्होंने स्नैच में 175 का सर्वाधिक भार उठाया तो वहीं क्लीन एंड जर्क में 207 का सर्वाधिक भार उठाया. उनका कुल स्कोर 207 रहा.

गेंदबाजों पर कहर की तरह बरसे लोकेश राहुल, तोड़ डाला सालों पुराना रिकॉर्ड

क्लीन एंड जर्क में गुरदीप के दो प्रयास और स्नैच में एक प्रयास असफल रहा और इसी कारण वह पदक से चूक गए. न्यूजीलैंड के डेविड लिटी ने 403 का कुल स्कोर कर स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया. उन्होंने गेम रिकॉर्ड बनाते हुए सोने का तमगा हासिल किया. समोआ के लाओटिटी लुई कुल 400 के स्कोर के साथ रजत पदक हासिल करने में सफल रहे. कांस्य पदक पाकिस्तान के मोहम्मद नूह के हिस्से आया जिन्होंने 395 का कुल भार उठाया.