नई दिल्ली. भारत के स्टार शटलर किदांबी श्रीकांत वर्ल्ड नंबर वन बन गए हैं. बेडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन की ताजा रैंकिंग में किदांबी ने डेनमार्क के विक्टर एलेक्शन को पीछे छोड़ते हुए टॉप पोजिशन पर कब्जा जमाया है. श्रीकांत को नंबर वन की कामयाबी वैसे पिछले साल ही हासिल हो जानी थी लेकिन इंजरी उनकी राह में अडंगा बन गई और उनके बैडमिंटन का बादशाह बनने का इंतजार बढ़ गया. श्रीकांत ने 76,895 प्वाइंट्स के साथ बैंडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन की रैंकिंग में पहला स्थान हासिल किया है. श्रीकांत की इस बेमिसाल कामयाबी को वीरेन्द्र सहवाग ने भी सराहा है. उन्होंने रैंकिंग की लिस्ट को ट्वीट करते हुए उन्हें मुबारकबाद दी है.

 

श्रीकांत को नंबर वन की कामयाबी मिली कैसे अब वो समझिए. दरअसल, जिस चोट ने उनके बादशाहत के इंतजार को बढ़ाया उसी इंजरी ने विक्टर को मलेशिया ओपन से दूर रखकर श्रीकांत को नंबर वन बनने का मौका दे दिया. मलेशिया ओपन नहीं खेलने की वजह से विक्टर को 1660 प्वाइंट का नुकसान हुआ, जिस वजह से उन्हें हटाकर बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन मे श्रीकांत को ये जगह दे दी.

कॉमनवेल्थ में जारी है श्रीकांत का खेल

श्रीकांत फिलहाल ऑस्ट्रेलिया में हैं और कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत का प्रतिनिधत्व कर रहे हैं. वहां भी उनका शानदार प्रदर्शन जारी है. मिक्सड टीम इवेंट में उन्होंने रियो ओलंपिक के सिल्वर मेडलिस्ट को हराकर भारत को गोल्ड मेडल जीताने में बड़ी भूमिका निभाई थी. ऐसा पहली बार हुआ था जब कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत की झोली में स्वर्ण पदक गिरा था. इसके बाद अब सिंगल इवेंट में भी श्रीकांत गोल्ड जीतने की ओर अपने कदम बढ़ाते दिख रहे हैं.

जाहिर है इतने दमदार परफॉर्मेन्स के बीच नंबर वन बनने से उनका हौसला और बढ़ेगा और उनकी जीत की प्यास भी बढ़ेगी.