मुंबई इंडियंस के खिलाफ शुक्रवार को खेले जा रहे दूसरे क्वॉलिफायर में कोलकाता नाइटराइडर्स की टीम की शुरुआत बेहद खराब रही और इस सीजन में उसने पावरप्ले में अपना सबसे कम स्कोर बनाया. पावरप्ले में यानी कि 6 ओवर के बाद कोलकाता का स्कोर 3 विकेट पर 25 रन ही था. इससे पहले पावरप्ले में उसका सबसे कम स्कोर 40 रन था जबकि उसका उच्चतम स्कोर 105 रन था. इस सीजन में 11 बार केकेआर ने पावरप्ले में 45+ का स्कोर बनाया.

कोलकाता का पहला विकेट क्रिस लिन के रूप में दूसरे ओवर में गिरा. लिन 4 रन बनाकर बुमराह की गेंद को उठाकर मारने के चक्कर में पोलार्ड के हाथों कैच आउट हो गए, उस समय कोलकाता का स्कोर 5 रन था.

बुमराह ने क्रिस लिन और उथप्पा को सस्ते में आउट कर दिया (bcci)
बुमराह ने क्रिस लिन और उथप्पा को सस्ते में आउट कर दिया (bcci)

 

इसके बाद 24 के स्कोर पर सुनील नारायण 10 रन बनाकर कर्ण शर्मा का शिकार बन गए. 25 के स्कोर पर बुमराह ने रॉबिन उथप्पा को एलबीडब्ल्यू कर दिया. उथप्पा सिर्फ 1 रन बना सके. (IPL 2017: 6 साल में सिर्फ दूसरी बाहर यूसुफ पठान के बिना खेल रही है कोलकाता नाइटराइडर्स)

इसके बाद कर्ण शर्मा ने सातवें ओवर की पांचवीं और छठी गेंद पर कप्तान गंभीर (12 रन) और डि ग्रैंडहोम (0) को आउट करके कोलकाता की बैटिंग की कमर तोड़ दी और 7 ओवर में कोलकाता की आधी टीम 31 के स्कोर तक पविलियन लौट गई.

इस मैच में हारने वाली टीम खिताबी दौड़ से बाहर हो जाएगी जबकि जीतने वाली टीम 21 मई को फाइनल में पुणे से खेलेगी.