नई दिल्ली. IPL -11 में आज का मुकाबला दिल्ली और राजस्थान के बीच जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में खेला जाएगा. इस मुकाबले में वैसे तो दोनों टीमों की नजर जीत पर होगी, क्योंकि दोनों ही अपना-अपना पहला मैच हार चुकी हैं. लेकिन, बड़ा सवाल ये है कि क्या राजस्थान के कप्तान अजिंक्य रहाणे दिल्ली की टीम को अपनी मांद में ऐसा करने देंगे. हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि टीम के कोच शेन वॉर्न पहले ही अपने खिलाड़ियों को हर मोर्चे पर घेरेबंदी करने को कह चुके हैं. उन्होंने रहाणे एंड कंपनी को साफ कह दिया है कि वो जयपुर को अपना घड़ समझे और यहां आने वाले हर विरोधी टीम की बत्ती गुल करें. कोच की रणनीति पर अमल करते हुए रहाणे ने जयपुर में गंभीर एंड कंपनी को घेरने का अलर्ट जारी कर दिया है.

आंकड़ों के चक्रव्यूह में फंसेगी दिल्ली

राजस्थान के कोच शेन वॉर्न और कप्तान रहाणे का गंभीर एंड कंपनी को अपने गढ़ जयपुर में घेरने का प्लान कैसे कामयाब होगा अब उसे जरा इन आंकड़ों से समझिए. IPL की पिच पर दोनों टीमें अब तक 16 बार आमने सामने हुईं है जिसमें 10 बार राजस्थान की जीत हुई है, जबकि 6 बार दिल्ली ने जीत दर्ज की है. बात अगर जयपुर में खेले IPL मुकाबलों की करें तो यहां अब तक दोनों टीमें 4 बार एक दूसरे के खिलाफ उतर चुकीं हैं, जिनमें 3 मौकों पर राजस्थान ने जीत दर्ज की है जबकि 1 बार दिल्ली ने जयपुर को अपना बनाने में सफलता हासिल की है. जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम पर साल 2013 के बाद पहली बार IPL का मुकाबला खेला जा रहा है. इस मैदान पर राजस्थान की जीत का रिकॉर्ड दमदार रहा है. इस मैदान पर राजस्थान ने 24 मैच जीते हैं जबकि सिर्फ 9 मुकाबले गंवाए हैं. आंकड़ों से साफ है कि पलड़ा राजस्थान का हर लिहाज से भारी है और ऐसे में उन्हें जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम पर गंभीर की अगुवाई वाली दिल्ली की टीम पर लगाम लगाने में मुश्किल नहीं होनी चाहिए.

16 और 9 के संयोग से बना राजस्थान का 'राज योग', फिर बनेगा IPL चैम्पियन!

16 और 9 के संयोग से बना राजस्थान का 'राज योग', फिर बनेगा IPL चैम्पियन!

रहाणे करेंगे फ्रंट से लीड

जयपुर में गंभीर एंड कंपनी के खिलाफ रहाणे अपनी टीम को फ्रंट से लीड करते दिखेंगे. इसकी वजह है दिल्लीवालों के खिलाफ उनका दमदार रिकॉर्ड. रहाणे ने दिल्ली के खिलाफ 15 मुकाबले खेले हैं जिसमें उन्होंने 63.20 की औसत से 632 रन बनाए हैं. ये IPL में किसी भी टीम के खिलाफ रहाणे के बल्ले से निकले सबसे ज्यादा रन है.

तो कप्तान तैयार है, टीम तैयार है, साथ ही साथ रणनीति भी दुरुस्त है. अब बस इंतजार है जयपुर की जंग का, जहां जीत के लिए एक दूसरे के प्लानों को तार-तार करती दिखेंगी रहाणे और गंभीर की सेना.