नई दिल्ली. दोनों ही शटल क्वीन हैं, दोनों ही बैडमिंटन में भारत का प्रतिनिधित्व करती हैं , दोनों ही इस वक्त कॉमनवेल्थ गेम्स में शिरकत करने के लिए ऑस्ट्रेलिया में हैं. लेकिन, इस खेल प्रतियोगिता के आगाज से पहले ही इनके बीच एक अलग खेल शुरू हो गया है. जी हां, हम बात कर रहे हैं साइना नेहवाल और ज्वाला गुट्टा की, जिनके बीच वाद-विवाद का गरमागरम खेल शुरू हो गया है. ज्वाला ने साइना के उस ट्वीट को लेकर उन पर निशाना साधा है जिसमें वो अपने पिता के खेल गांव में एंट्री ना दिए जाने को लेकर न खेलने की धमकी दे दी थीं. ज्वाला ने बिना नाम लिए साइना पर सवाल दागते हुए पूछा कि परिवार को एंट्री न मिलने पर न खेलने की धमकी देना कहां तक जायज है? दरअसल, साइना नेहवाल गोल्ड कोस्ट में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लेने ऑस्ट्रेलिया गई हुई हैं. वहां उनके पिता को कथित तौर पर पूरा खर्च देने के बाद बावजूद खेलगांव में एंट्री नहीं मिली थी. इसपर साइना का गुस्सा फूट पड़ा था.

ज्वाला का साइना पर निशाना

ज्वाला ने ट्वीट किया, ” मेरा परिवार हमेशा टिकट और होटल में रुकने के पैसे देता है, मुझे नहीं पता कि किस चीज का वादा हुआ था और क्या मांगा गया था. जब आपको इतने पहले से मैच की तारीख पता थी तो पहले से प्लेन बुक क्यों नहीं किया गया? ना खेलने की धमकी देना कितना सही है?” गुट्टा ने आगे लिखा, “ये हास्यपद है, इनाम में पैसे, प्लॉट मांगना सोशल मीडिया पर विवादित नहीं होता लेकिन राइट टू पे की बात करने पर विवाद हो जाता है. ”

 

साइना का ट्वीट

बता दें साइना ने सोशल मीडिया पर ही उनके पिता को एंट्री न मिलने की बात कही थी और ट्वीट किया था, “मैं ये देखकर हैरान हूं कि जब कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए हमने भारत से शुरुआत की थी तो मेरे पिता की टीम अधिकारी के रूप में पुष्टि की गई थी और मैंने इसका खर्च भी दे दिया था, लेकिन खेल गांव पहुंचने पर पता चला कि उनका नाम टीम अधिकारियों की लिस्ट में शामिल नहीं किया गया है. वो मेरे साथ रुक भी नहीं सकते. ”

साइना ने आगे लिखा था, ‘मेरे पिता मेरे मुकाबले भी नहीं देख सकते. न ही वह खेल गांव में प्रवेश कर सकते हैं और न ही मुझसे मिल सकते हैं. मुझे हर मुकाबले में उनके सपोर्ट की जरूरत होती है, लेकिन मुझे समझ नहीं आ रहा है कि आखिर क्यों इस बारे में मुझे सूचना नहीं दी गई. ”

'मिशन 500' पर भारतीय खिलाड़ियों की नजर , कॉमनवेल्थ गेम्स में 'रंग दे तिरंगा'

'मिशन 500' पर भारतीय खिलाड़ियों की नजर , कॉमनवेल्थ गेम्स में 'रंग दे तिरंगा'

हालांकि, विवाद होने के बाद इंडियन ओलिंपिक एसोसिएशन ने फटाफट साइना के पिता को खेलगांव में एंट्री दिलवा दी थी, जिसके बाद साइना ने सबका शुक्रिया किया था. लेकिन, इसके बाद वो ज्वाला गुट्टा के निशाने पर आ गईं. बहरहाल, ज्वाला की ट्वीट के बाद साइना का इस पर कोई रिएक्शन फिलहाल नहीं आया है.

बता दें कि कॉमनेल्थ गेम्स में साइना नेहवाल जहां वूमेन बैडमिंटन के सिंगल्स में भारत की सबसे बड़ी उम्मीद हैं वहीं ज्वाला गुट्टा डबल्स में भारत के लिए मेडल की होप हैं.