नई दिल्ली: जिस कप्तान ने कोलकाता की रूप रेखा बदली थी और कमजोर समझी जाने वाली टीम को मजबूत बनाकर दो बार खिताब दिलाए, उस गौतम गंभीर के बिना यह टीम इंडियन टी-20 लीग के 11वें संस्करण की शुरुआत रविवार से करेगी. कोलकाता अपने पहले मैच में विराट कोहली की कप्तानी वाली बेंगलोर के खिलाफ अपने घर ईडन गार्डन्स स्टेडियम में उतरेगी. गंभीर ने कोलकाता को 2012 और 2014 में खिताब दिलाया था, लेकिन इस बार वह दिल्ली की कप्तानी कर रहे हैं. कोलकाता ने विकेटकीपर-बल्लेबाज दिनेश कार्तिक को कप्तान बनाया है.

कार्तिक के लिए यह किसी परीक्षा से कम नहीं है. वह भी जानते हैं कि उनके ऊपर कितनी बड़ी जिम्मेदारी है. हालांकि कोलकाता को लीग की शुरुआत से पहले ही बड़ा झटका लग चुका है. ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज मिशेल स्टार्क चोट के कारण कोलकाता के लिए इस सीजन में नहीं खेल पाएंगे. उनकी गैरमौजूदगी में उनके हमवतन मिशेल जॉनसन पर टीम की गेंदबाजी का भार होगा. स्टार्क की जगह टीम प्रबंधन ने इंग्लैंड के टॉम कुरेन को टीम में शामिल किया है. उनके आने से टीम की गेंदबाजी को धार मिली है.

VIDEO: आईपीएल ट्रॉफी के साथ स्टेज पर पहुंचे रोहित, ऋतिक ने दी ओपनिंग सेरेमनी की आखिरी परफॉर्मेंस

वहीं भारत को अंडर-19 विश्व कप में जीत दिलाने वाले कमलेश नागरकोटी और शिवम मावी इस बार कोलकाता के साथ आईपीएल पदार्पण कर रहे हैं. अगर इन्हें अंतिम एकादश में मौका मिलता है तो दोनों के लिए यह मौका अपने आप को साबित करने का होगा. वहीं स्पिन विभाग में कुलदीप यादव, पीयूष चावला और वेस्टइंडीज के सुनील नरेन हैं. यह तीनों टीम के साथ लंबे समय से हैं और टीम की सफलता में बड़ा योगदान दिया है, लेकिन इस बार बदली हुई टीम के कारण इन तीनों की जिम्मेदारी भी बढ़ गई है.

IPL में कोहली से ज्यादा कमाई करते हैं धोनी-रोहित, 1 अरब रुपये से ज्यादा इनकम

बल्लेबाजी में टीम के पास क्रिस लिन जैसा तूफानी बल्लेबाज है. शीर्ष क्रम में लिन और टीम के उप-कप्तान रोबिन उथप्पा पर बड़ी जिम्मेदारी है. पिछली बार कोलकाता ने सभी को चौंकाते हुए कुछ मैचों में नरेन को पारी की शुरुआत करने के लिए भेजा था और उसका यह दांव काफी हद तक सफल भी रहा था. इस बार ऐसा फिर देखने को मिले तो अचरच नहीं है. शीर्ष क्रम में युवा बल्लेबाज शुभमन गिल के लिए अपने आप को साबित करने का अच्छा मौका है. गिल भी हाल ही में अंडर-19 विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे और पूरे टूर्नामेंट में उन्होंने बल्ले से शानदार प्रदर्शन किया था.

धोनी से ‘पंगा’ लेकर रोहित शर्मा की पत्नी हुईं ट्रोल

कोलकाता के पास आंद्रे रसेल जैसा हरफनमौला खिलाड़ी भी है जो बल्ले और गेंद दोनों से टीम के लिए बड़ी भूमिका निभाएंगे. वहीं अभी तक खिताब से महरूम रहने वाली बेंगलोर ने भी अपनी टीम में कुछ बदलाव किए हैं. पिछले सीजन की टीम को अगर देखा जाए तो इस बार सिर्फ कोहली, एबी डिविलियर्स, युजवेंद्र चहल और सरफराज खान इस टीम में भी हैं. टीम की ताकत हमेशा बल्लेबाजी रही है और इस बार भी टीम ने नीलामी में कई अच्छे बल्लेबाज शामिल किए हैं. टी-20 का बड़ा नाम न्यूजीलैंड के ब्रेंडन मैक्कलम, दक्षिण अफ्रीका के क्विंटन डी कॉक, इंग्लैंड के हरफनमौला खिलाड़ी क्रिस वोक्स, मोइन अली और न्यूजीलैंड के हरफनमौला खिलाड़ी कोरी एंडरसन, कोलिन डी ग्रांडहोम को अपनी टीम में शामिल किया है.

IPL 2018: ‘शर्मा जी’ की टीम का रिकॉर्ड है दुरुस्त, फिर भी चेन्नई के खिलाफ टेंशन है फुल !

गेंदबाजी में भी टीम ने अपने आप को मजबूत करने की कोशिश की है. उसके पास न्यूजीलैंड के टिम साउदी, उमेश यादव, मोहम्मद सिराज को अपने साथ जोड़ा है. स्पिन में चहल का साथ देने के लिए ऑफ स्पिनर वॉशिंगटन सुंदर भी हैं. कहीं न कहीं बेंगलोर की गेंदबाजी में कागजों पर अभी भी कमी दिखाई देती है, लेकिन असल परीक्षा मैदान पर होनी है जिसके लिए दोनों टीमें तैयार हैं. दोनों टीमों के बीच आईपीएल में अभी तक कुल 21 मुकाबले हुए हैं जिसमें से 12 में कोलकाता जीती है तो नौ में बेंगलोर.

टीम :

कोलकाता : दिनेश कार्तिक (कप्तान), सुनील नरेन, आंद्रे रसेल, क्रिस लिन, रोबिन उथप्पा, कुलदीप यादव, पीयूष चावला, नीतीश राणा, कमलेश नागरकोटी, शिवम मावी, मिशेल जॉनसन, शुभमन गिल, विनय कुमार, रिंकू सिंह, कैमरू डेलपोर्ट, जेवन सीयरलेस, अपूर्व वानखेड़े, इशांक जग्गी, टॉम कुरेन.

बेंगलोर : विराट कोहली (कप्तान), अब्राहम डिविलियर्स, सरफराज खान, क्रिस वोक्स, युजवेंद्र चहल, ब्रेंडन मैक्कलम, वॉशिंगटन सुंदर, नवदीप सैनी, क्विंटन डी कॉक, मोहम्मद सिराज, कोरी एंडरसन, कोलिन डी ग्रांडहोम, मुरुगन अश्विन, पार्थिव पटेल, मोइन अली, मनदीप सिंह, मनन वोहरा, पवन नेगी, टिम साउदी, कुलवंत खेजरोलिया, अनिकेत चौधरी, पवन देशपांडे, अनिरूद्ध अशोक जोशी.