नई दिल्ली: किंग्स इलेवन पंजाब के सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल ने आईपीएल में विरोधी टीमों को चेतावनी देते हुए फॉर्म में वापसी करने वाले क्रिस गेल से बचने को कहा है. गेल ने रविवार को चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ सत्र का अपना पहला मैच खेलते हुए 22 गेंद में अपना दूसरा सबसे तेज अर्धशतक बनाया और टीम की चार रन की जीत की नींव रखी.

अच्छे फॉर्म में चल रहे राहुल ने मैच के बाद कहा, ‘‘यह हमारी टीम के लिए शानदार खबर है और अन्य टीमों के लिए बुरी खबर कि क्रिस गेल गेंद को काफी अच्छी तरह हिट कर रहे हैं. हम सभी को पता है कि वह ऐसा खिलाड़ी है जो अकेले दम पर मैच जिता सकता है और विरोधी आक्रमण को ध्वस्त कर सकता है और उसने ऐसा ही किया.’’ आईपीएल नीलामी में गेल दो बार नहीं बिक पाए थे जिसके बाद किंग्स इलेवन पंजाब ने उन्हें दो करोड़ रुपये के उनके आधार मूल्य पर खरीदा. किंग्स इलेवन पंजाब की टीम अपना अगला घरेलू मैच सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ खेलेगी.

VIDEO: मैच के दौरान जीवा की डिमांड पूरी नहीं कर पाए धोनी, फैन ने कहा- इसी वजह से हारे

हैदराबाद के खिलाफ योजना के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा, ‘‘आईपीएल में सभी टीमें अच्छी हैं, हम अपनी योजना के अनुसार खेलेंगे और अपने मजबूत पक्षों पर ध्यान देंगे. हम देखेंगे कि हम कहां सनराइजर्स हैदराबाद को पछाड़ सकते हैं.’’

सुपरकिंग्स के कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने कहा कि गेल काफी अच्छा खेले और इसने अंतर पैदा किया. हालांकि उन्होंने साथ ही कहा कि पंजाब की टीम को 200 रन से कम पर रोककर उनके गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया, क्योंकि विरोधी टीम एक समय 220 से अधिक रन बनाने की ओर बढ़ रही थी. उन्होंने कहा, ‘‘दूसरे हाफ में गेंदबाजी काफी अच्छी रही क्योंकि हम कुछ विकेट हासिल करने में सफल रहे, दबाव बनाया. इसलिए मैं इस प्रयास से प्रभावित हूं.’’

करियर की सर्वश्रेष्ठ रैकिंग पर पहुंची स्मृति मंधाना, दीप्ति ने भी लगाई रेटिंग में छलांग

बता दें कि चेन्नई के खिलाफ खेले गए मैच में पंजाब ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 7 विकेट खोकर 197 रन बनाए. इस दौरान क्रिस गेल ने 33 गेंदों का सामना करते हुए 7 चौकों और 4 छक्कों की मदद से 63 रन बनाए. गेल की इस तूफानी की बदौलत पंजाब ने चेन्नई को 4 रन से हराया. इस मैच में पंजाब के दिए लक्ष्य का पीछा करते हुए चेन्नई ने 20 ओवर में 5 विकेट खोकर 193 रन बनाए. इस दौरान टीम के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने 44 गेंदों का सामना करते हुए 6 चौकों और 5 छक्कों की मदद से नाबाद 79 रन बनाए. हालांकि धोनी बेहतरीन पारी खेलने के बाद भी टीम को जीत नहीं दिला सके.