नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क चोटिल होने के वजह आईपीएल के सीजन 11 से बाहर हो गए हैं. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले जा रहे चौथे टेस्ट मैच के दौरान स्टार्क चोटिल हो गए. यह टेस्ट मैच शुक्रवार से जोहान्सबर्ग में खेला जा रहा है. स्टार्क चोटिल होने की वजह से अब इस टेस्ट मुकाबले में भी नहीं खेल पायेंगे. इस दिग्गज गेंदबाज के चोटिल होने के बाद शेड सेयर्स को प्लेइंग इलेवन में जगह दी गई है.

IPL2018 TeamReview: चेन्नई में शामिल हैं कई अनुभवी खिलाड़ी, लेकिन इस वजह से टीम को उठाना पड़ सकता है बड़ा नुकसान

क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू में छपी खबर के मुताबिक स्टार्क के दाहिने पैर की पिंडली की हड्डी में चोट लगी है और वो इलाज के लिए स्वदेश लौट रहे हैं. इस वजह से वो आईपीएल में नहीं खेल पायेंगे. स्टार्क के चोटिल होने की वजह से सेयर्स को टेस्ट मैच में डेब्यू करने का मौका मिला.

स्टार्क आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाड़ी हैं. उन्हें आईपीएळ 2018 के लिए केकेआर ने 9.40 करोड़ में खरीदा था, जबकि उनका बेस प्राइस 2 करोड़ रुपये था. स्टार्क के चोटिल होने की वजह से टीम की मुश्किलें बढ़ गई हैं. हालांकि बतौर तेज गेंदबाज मिचेल जोनसन, कमलेश नागरकोटी और विनय कुमार टीम में शामिल हैं. नागरकोटी भारत की अंडर 19 टीम के खिलाड़ी हैं और उन्होंने अंडर 19 वर्ल्डकप में दमदार प्रदर्शन किया था.

चेन्नई सुपरकिंग्स के प्रोग्राम में क्यों रो पड़े धोनी ?

अगर स्टार्क के आईपीएल करियर पर नजर डालें तो वो अभी ज्यादा मैच नहीं खेल पाए हैं. स्टार्क ने सीजन 2014 से आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंग्लोर की तरफ से पदार्पण किया था. इस सीजन में उन्होंने कुल 14 मुकाबले खेले थे, जिनमें 14 विकेट हासिल किए थे. इसके बाद 2015 में स्टार्क 13 मैच खेले, जिनमें 20 विकेट झटके थे. वहीं स्टार्क ने 22 टी-20 इंटरनेशनल मुकाबलों में 30 विकेट अपने नाम किए हैं. इस दौरान उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 3 विकेट लेकर 11 रन देना रहा है.

बता दें कि इस सप्ताह में आईपीएल से बाहर होने वाले स्टार्क तीसरे ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी हैं. उनसे पहले बाल टेंपरिंग के दोषी स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) और फिर बीसीसीआई द्वारा प्रतिबंधित होने के बाद आईपीएल से बाहर हुए हैं.

उसेन बोल्ट के फीजियो से ट्रेनिंग लेकर आया कोलकाता का ये खिलाड़ी, IPL में दिखेगा ऑलराउंडर प्रदर्शन

स्टार्क आईपीएल में 2015 के बाद से नहीं खेले हैं. मैच से पहले स्टार्क फीजियोथेरेपिस्ट डेविड बिकले के सामने गेंदबाजी का अभ्यास कर रहे थे, लेकिन वो मैच के लिए फिट नहीं पाए गए. ऑस्ट्रेलिया इस सीरीज में 1-2 से पीछे है. हालिया बॉल टेम्परिंग विवाद के बाद ऑस्ट्रेलिया के लिए यह टेस्ट मैच एक तरह से सम्मान की बात बन गई है. ऐसे में स्टार्क के न होने से उसे बड़ा झटका लगा है.