नई दिल्ली: दो साल के निलंबन के बाद वापसी कर रही दो बार की विजेता टीम चेन्नई सुपर किंग्स शनिवार को मुंबई में आईपीएल 2018 के पहले मुकाबले में गत विजेता मुंबई इंडियन्स से भिड़ेगी. वानखेड़े स्टेडियम में होने वाले इस मैच में दर्शकों के भारी तादाद में पहुंचने की संभावना है. एक औपचारिक उद्घाटन समारोह से इस टी-20 लीग का आगाज होगा. रोहित शर्मा की कप्तानी में मुंबई इंडियंस सितारों के लिए सजी चेन्नई की टीम की चुनौती आसान नहीं होगी, जिसका नेतृत्व करिश्माई कप्तान महेंद्र सिंह धोनी कर रहे हैं.

IPL2018: धोनी-रोहित-सचिन के बीच ’51’ का अनोखा संयोग !

चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स पर दो साल(2016, 2017 के आईपीएल) के लिए प्रतिबंध लगाए गए थे. मेहमान टीम अपनी धुर विरोधी टीम के खिलाफ मैच से आईपीएल की शानदार शुरूआत करना चाहेगी. सीएसके टीम में इस बार मशहूर स्पिनर हरभजन सिंह शामिल हैं जो इससे पहले10 साल तक मुंबई की टीम में रहे हैं.

मुंबई अपने कप्तान रोहित पर निर्भर करेगी जिन्होंने अपने बल्लेबाजी क्रम का अब तक खुलासा नहीं किया है लेकिन उनकी भूमिका महत्वपूर्ण होगी. रोहित साबित कर चुके हैं कि जब वह लय में होते हैं तो सीमित ओवर के प्रारूप में उन्हें कोई रोक नहीं सकता और वह अपना एवं अपनी टीम का आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए पहले मुकाबले में एक बड़ी पारी खेलने की उम्मीद कर रहे होंगे. उनके अलावा टीम के शानदार बल्लेबाजी क्रम में वेस्टइंडीज के खिलाड़ी ऐल्विन लुई एवं किरॉन पोलार्ड, ईशान किशन, सूर्यकुमार यादव, सिद्देष लाड शामिल हैं.

IPL2018: पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने बताया, क्या सही समय पर कप्तान बने हैं दिनेश कार्तिक

मुंबई के पास डेथ ओवरों में दुनिया के सबसे अच्छे गेंदबाजों में से एक जसप्रीत बुमराह भी शामिल हैं. कोच माहेला जयवर्द्धने ऑस्ट्रेलिया के पैट कमिन्स, बांग्लादेश के तेज गेंदबाज मुस्ताफिजुर रहमान से अच्छा प्रदर्शन और बुमराह की मदद करने की उम्मीद करेंगे. मुंबई का स्पिन विभाग अनुभवहीन है और वह राहुल चाहर, अनुकूल रॉय और श्रीलंका के अकिला धनंजय जैसे युवा स्पिनरों से स्पिन और उछाल दोनों मुहैया कराने वाली पिच पर अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद करेगी.

रोहित ने कल कहा था, ‘‘ सीएसके और मुंबई इंडियंस के बीच इन वर्षों में एक अच्छा जुड़ाव एवं अच्छी प्रतिद्वंदिता रही है. एक बार फिर से कुछ उम्मीद नहीं कर रहे हैं, यह वैसा ही होगा, दोनों ही टीमें पहले मुकाबले में कड़ा संघर्ष करेंगी और जो भी दबाव झेलने में सफल होगा, जीत उसी की होगी.’’ दूसरी तरफ चेन्नई की टीम ज्यादा स्थापित है और उसने धोनी, सुरेश रैना एवं रविंद्र जडेजा जैसे अहम खिलाड़ियों को बरकरार रखा है और उसके पास मुरली विजय, केदार जाधव, ड्वेन ब्रावो, फाफ डू प्लेसिस, सैम बिलिंग्स और शेन वॉटसन जैसे अनुभवी खिलाड़ी हैं. (एजेंसी इनपुट के साथ)