नई दिल्ली: लेग स्पिनर पीयूष चावला का मानना है कि कोलकाता नाइटराइडर्स के उनके साथी चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव पर भारत की तरफ से अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद इंडियन प्रीमियर लीग में अतिरिक्त दबाव रहेगा. कुलदीप का यह केकेआर के साथ चौथा सत्र है लेकिन उन्होंने हाल में भारतीय टीम में अपनी जगह पक्की की तथा वह युजवेंद्र चहल के साथ सीमित ओवरों की टीम का मुख्य अंग हैं.

कुलदीप ने दक्षिण अफ्रीका में छह वनडे मैचों में 17 विकेट लिये थे. चावला ने कहा, ‘‘वह भारत के लिये जिस तरह से गेंदबाजी कर रहा है वह वास्तव में बहुत अच्छा है. उसने घरेलू और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट दोनों में अच्छा प्रदर्शन किया है. हालांकि इस सत्र में उस पर अतिरिक्त दबाव होगा.’’ कुलदीप में दबाव झेलने की क्षमता है और यह उनकी गेंदबाजी में भी दिखता है तथा चावला का मानना है कि यह चाइनामैन अच्छा प्रदर्शन करेगा.

IPL से पहले साहा ने गेंदबाजों को दी चेतावनी, 20 गेंदों में शतक जड़कर बनाया रिकॉर्ड

उन्होंने कहा, ‘‘शुरू में उससे बहुत उम्मीद नहीं की गयी थी लेकिन इस सत्र में जब वह मैदान पर उतरेगा तो उससे काफी उम्मीदें लगी रहेंगी. वह जिस तरह का गेंदबाज है उससे वह निश्चित तौर पर अच्छा प्रदर्शन करेगा.’’

बता दें कि कुलदीप यादव आईपीएल 2018 में कोलकाता नाइट राइडर्स की ओर से खेलेंगे. उन्होंने सीजन 2016 से आईपीएल में पदार्पण किया था. हालांकि इस सीजन में वो महज 3 मैच ही खेल पाए थे. लेकिन कुलदीप ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए तीन मुकाबलों में 6 विकेट झटके थे. वहीं इसके बाद आईपीएल 2017 में 12 मैचों में खेलने का मौका मिला. इस दौरान कुलदीप ने 12 विकेट हासिल किए.

IPL2018: चोटिल कोल्टर नील को RCB ने किया बाहर, न्यूजीलैंड के दिग्गज खिलाड़ी को टीम में मिली एंट्री

वहीं अगर पीयूष मिश्रा के करियर पर नजर डालें तो उनका प्रभावी प्रदर्शन देखने को मिलता है. पीयूष ने आईपीएल 2008 में 15 मुकाबले खेले थे. इस दौरान उन्होंने 17 विकेट झटके थे. इसके बाद उन्होंने हर सीजन में दमदार प्रदर्शन किया. पीयूष ने अब तक कुल 129 आईपीएल मैच खेले हैं, जिनमें 126 विकेट झटके हैं. उनका सर्वश्रेष्ठ आईपीएल प्रदर्शन 17 रन देकर 4 विकेट हासिल करना रहा है.