जिम्बाब्वे ने कोलंबो टेस्ट के तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक अपनी दूसरी पारी में 6 विकेट पर 252 रन बनाए और श्रीलंका पर 262 रन की महत्वपूर्ण बढ़त हासिल कर ली. दिन का खेल खत्म होने के समय सिकंदर रजा (97) और मैल्कम वॉलर (57) क्रीज पर थे.

इन दोनों की दमदार बैटिंग की बदौलत जिम्बाब्वे ने श्रीलंका की मैच पर पकड़ बनाने की कोशिशों को बुरी तरह झटा दिया. एक समय जिम्बाब्वे ने अपने 5 विकेट महज 59 रन के स्कोर पर गंवा दिए थे लेकिन इसके बाद सिकंदर रजा और वॉलर ने सातवें विकेट की अविजित साझेदारी में अब तक 107 रन जोड़ते हुए जिम्बाब्वे को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचा दिया है.

जिम्बाब्वे ने अपनी पहली पारी में क्रेग इर्विन (160) के शतक की बदौलत 356 रन बनाए थे और जवाब में श्रीलंका को 346 रन पर समेटते हुए 10 रन की बढ़त हासिल की थी. दूसरी पारी में रंगना हेराथ ने 4 विकेट झटकते हुए जिम्बाब्वे को बैकफुट पर ढकेल दिया और उसकी आधी टीम महज 59 रन पर पविलियन लौट गई थी.

लेकिन इसके बाद सिकंदर रजा ने 97 रन की नाबाद पारी खेली और पहले छठे विकेट के लिए शॉन विलियम्स (22) के साथ 86 रन की साझेदारी की और फिर वॉलर के साथ सातवें विकेट के लिए 107 रन जोड़ते हुए जिम्बाब्वे को 250 रन के स्कोर के पार पहुंचा दिया और उसे 262 रन की मजबूत बढ़त दिला दी.