मुंबई: भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने बुधवार को स्टीव स्मिथ का समर्थन करते हुए कहा कि उन्हें पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान के साथ पूरी सहानुभूति है और मानते हैं कि केपटाउन टेस्ट में जो कुछ भी हुआ वह सब धोखेबाजी नहीं थी. बता दें कि ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ गेंद से छेड़छाड़ किए जाने के प्रकरण को लेकर उन पर लगाए गए एक साल का प्रतिबंध लगाया गया है. वहीं, स्टीव स्मिथ इस प्रकरण को लेकर लगाए गए एक साल के प्रतिबंध को चुनौती नहीं देंगे. उन्होंने सजा को सही ठहराते हुए कहा कि इसका मकसद एक कड़ा संदेश देना है.

गांगुली ने किताब ‘अ सेंचुरी इज नॉट इनफ’ के लांच के बाद कहा,” मुझे स्टीव स्मिथ से पूरी सहानुभूति है और उम्मीद करता हूं कि वह वापसी करेगा और ऑस्ट्रेलिया के लिए रन जुटाएगा, क्योंकि मुझे नहीं लगता कि यह धोखेबाजी थी, सही बात कहूं तो मैं नहीं मानता कि यह धोखा था.” गांगुली ने मीडियाकर्मियों से कहा, ”मैं उन्हें( स्मिथ, वार्नर और बैनक्रोफ्ट) शुभकामनाए दूंगा और उम्मीद करूंगा कि वे वापसी करें और अच्छा खेलें. इसे धोखा कहना सही नही होगा.

बता दें कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने प्रकरण को लेकर स्मिथ, उप कप्तान डेविड वार्नर पर एक- एक साल का और युवा गेंदबाज कैमरन बैनक्रॉफ्ट पर 9 महीने का प्रतिबंध लगाया है. दक्षिण अफ्रीका का दौरा ऑस्ट्रेलिया के लिए काफी बुरा साबित हुआ, प्रकरण के अलावा मेहमान टीम को टेस्ट सीरीज में 1-3 से हार का भी सामना करना पड़ा. (इनपुट एजेंसी)