श्रीलंका की टीम पल्लेकेले में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट में भारत के खिलाफ अपनी पहली  पारी में महज 135 रन पर सिमट गई और भारत को पहली पारी के आधार पर 352 रन की बड़ी बढ़त मिल गई, भारत ने अपनी पहली पारी में धवन और पंड्या के शतकों की बदौलत 487 रन बनाए. श्रीलंका की टीम कुलदीप यादव (40/4), अश्विन (22/2) और शमी (17/2) की बेहतरीन गेंदबाजी के आग महज 37.4 ओवरों में ही 135 रन पर सिमट गई. श्रीलंका के लिए कप्तान दिनेश चांदीमल ने सबसे अधिक 48 रन बनाए.

इसके साथ ही श्रीलंका के एक नाम एक ऐसा रिकॉर्ड दर्ज हो गया है जिसे वह कभी याद नहीं रखना चाहेगी. ये भारत के खिलाफ श्रीलंका की किसी टेस्ट पारी में सबसे कम ओवरों में ऑल आउट होने का रिकॉर्ड है. इससे पहले वह 2015 में कोलंबो टेस्ट में भारत के खिलाफ 43.4 ओवरों में ऑल आउट हुई थी. इसके अलावा श्रीलंकाई टीम भारत के खिलाफ 2008 में 47.3 ओवरों में और 1986 में 48.4 ओवरों में ऑल आउट हुई थी.

कोहली का रिकॉर्डः
टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने इस सीरीज में श्रीलंका को दूसरी बार फॉलो ऑन दिया. कोहली ने चौथी बार फॉलो ऑन देते हुए सबसे ज्यादा फॉलो ऑन देने के मामले में धोनी और सौरव गांगुली के रिकॉर्ड की बराबरी की और इस मामले में भारतीय कप्तानों में दूसरे नंबर पर पहुंच गए. रिकॉर्ड सात बार फॉलो ऑन देकर मोहम्मद अजहरुद्दीन के नाम है.

चाइनामैन गेंदबाजों का कमालः
तीसरे टेस्ट का दूसरा दिन भारत और श्रीलंका के चाइनामैन गेंदबाजों के नाम रहा. पहले श्रीलंका के चाइनामैन गेंदबाज लक्षण संदकन ने 132 रन देकर 5 विकेट झकटते हुए 14 सालों बाद पारी में 5 विकेट लेने वाले पहले चाइनामैन गेंदबाज बने. इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के पॉल एडम्स ने 2003 में पाकिस्तान के खिलाफ लाहौर टेस्ट में 128 रन देकर 4 विकेट झटके.

वहीं भारत के चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने विदेशी धरती पर अपना पहला टेस्ट खेलते हुए 40 रन देकर 4 विकेट झटके और श्रीलंका को 135 रन पर समेटने में अहम भूमिका निभाई.

(अभिषेक पाण्डेय द्वारा लिखित)