नई दिल्‍ली: स्‍टार इंडिया ने 2018-2023 के बीच होने वाली भारतीय क्रिकेट टीम की घरेलू श्रृंखलाओं के प्रसारण अधिकार 6138.1 करोड़ रुपए में खरीद लिए. इससे पहले भी इसके अधिकार स्‍टार इंडिया के पास ही थे. इसके साथ ही कंपनी के पास भारतीय क्रिकेट के दो सबसे बड़े प्रसारण अधिकार हो गए हैं. कंपनी सितंबर, 2017 में 2018-22 के बीच इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के प्रसारण अधिकार पहले ही खरीद चुकी है. इसके लिए उसने 16347.5 करोड़ रुपए की रकम अदा की थी. भारत के अलावा अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर भी कंपनी ने क्रिकेट के व्‍यवसाय पर अपनी मजबूत पकड़ बना रखी है. 2015 से 2023 के बीच होने वाले आईसीसी टूर्नामेंट के प्रसारण अधिकार भी इसके पास हैं.

ई-ऑक्‍शन के जरिए प्रसारण अधिकारों की नीलामी से बीसीसीआई को मिली रकम पहले 59 फीसदी ज्‍यादा है. इससे पहले 2012-18 के लिए बोर्ड को 3851 करोड़ रुपए मिले थे. ताजा नीलामी में बोर्ड को टीम इंडिया के हरेक मैच के लिए करीब 60 करोड़ रुपए मिलेंगे. यह आईपीएल से भी ज्‍यादा है. लीग के हर मैच के लिए प्रसारण अधिकार के रूप में बोर्ड को करीब 54.5 करोड़ रुपए मिलते हैं.

प्रसारण अधिकारों के तहत स्‍टार इंडिया अगले पांच साल के दौरान 102 मैचों का प्रसारण करेगा. इनमें पुरुषों के घरेलू मुकाबलों के अलावा भारतीय महिला क्रिकेट टीम के अंतरराष्‍ट्रीय मुकाबले भी शामिल हैं.

बीसीसीआई ने इस साल पहली बार ई-ऑक्‍शन के जरिए प्रसारण अधिकारों की नीलामी की. तीन दिनों चली इस प्रक्रिया में तीन दावेदार थे- स्‍टार इंडिया, सोनी पिक्‍चर्स नेटवर्क इंडिया और रिलायंस.