कोलकाता: श्रीलंका के खिलाफ तीन टेस्ट की श्रृंखला की तैयारी कर रही भारतीय टीम ने सोमवार को यहां ट्रेनिंग सत्र के दौरान शार्ट गेंद का सामना करने और स्पिनरों के खिलाफ रिवर्स स्वीप खेलने का अभ्यास किया.भारतीय टीम के सहयोगी स्टाफ को अजिंक्य रहाणे, शिखर धवन, लोकेश राहुल और कप्तान विराट कोहली जैसे खिलाड़ियों को शार्ट पिच गेंदों के लिए थ्रोडाउन करते देखा गया. टीम ने 16 नवंबर से ईडन गार्डन्स में शुरू हो रहे पहले टेस्ट से पूर्व पहले अभ्यास सत्र में हिस्सा लिया.

रहाणे ने सबसे अधिक लगभग आधे घंटे तक थ्रोडाउन का सामना किया. उन्होंने लंबे समय तक शार्ट पिच गेंदें खेली जो इस बात का संकेत है कि दो महीने के दक्षिण अफ्रीका दौरे के दौरान भारतीय टीम को किन चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है. टीम को दक्षिण अफ्रीका दौरे पर तीन टेस्ट, छह वनडे और तीन टी20 मैच खेलने हैं. 

आराम वाले दिन भी पिच देखने पहुंचे श्रीलंकाई कप्तान चांदीमल

आराम वाले दिन भी पिच देखने पहुंचे श्रीलंकाई कप्तान चांदीमल

नेट्स पर भारत ने अपने बल्लेबाजी क्रम के अनुसार अभ्यास किया. राहुल और धवन सबसे पहले उतरे और उन्होंने स्पिन तथा तेज गेंदबाजी का सामना किया.

दायें हाथ के बल्लेबाज राहुल और बायें हाथ के धवन ने मुख्य रूप से कवर्स में बल्लेबाजी की और कुछ मौकों पर रिवर्स स्वीप खेले. रहाणे ने हालांकि रविचंद्रन अश्विन और कुलदीप यादव जैसे स्पिनरों के खिलाफ गैरपारंपरिक शाट खेले जिससे श्रीलंका के रंगना हेराथ और लक्षण संदाकन जैसे स्पिनरों के खिलाफ भारत की रणनीति का अंदाजा लगाया जा सकता है. यहां पहुंचने के घंटों बाद कोहली ढाई घंटे के अभ्यास सत्र के दौरान पूरी तरह से लय में दिखे. उन्होंने ड्रिल्स के साथ शुरुआत की. इसके बाद उन्होंने थ्रोडाउन और शार्ट पिच गेंदों का सामना किया और फिर नेट्स पर पहुंचे. उन्होंने भी स्पिनरों के खिलाफ रिवर्स स्वीप खेले.

विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा ने हालांकि इसे अधिक तवज्जो नहीं देते हुए कहा, ‘‘यह इस पर निर्भर करता है कि किसी गेंद के प्रति आप कैसी प्रतिक्रिया देते हैं. ऐसा नहीं है कि हमने किसी विशेष गेंदबाज के खिलाफ अलग रणनीति बनाई है. इस तरह का कोई अनिवार्य शाट नहीं है.’’ गुजरात के खिलाफ सौराष्ट्र की ओर से कल समाप्त हुए रणजी ट्राफी मैच में खेलने वाले चेतेश्वर पुजारा और रविंद्र जडेजा ने आज आराम करने का फैसला किया.