नई दिल्ली. वर्ल्ड कप क्वालिफायर के आखिरी लीग मैच में आयरलैंड को हराकर अफगानिस्तान ने इतिहास रच दिया. इस जीत की के साथ उन्हें 2019 वर्ल्ड कप में खेलने का टिकट मिल गया. ये अफगान टीम का दूसरा वर्ल्ड कप टूर्नामेंट होगा. इससे पहले उन्होंने 2015 वर्ल्ड कप में भी अपनी दावेदारी पेश की थी. वर्ल्ड कप में पहली बार एंट्री लेने वाली अफगानिस्तान 20वीं टीम थी. हालांकि, अफगानिस्तान ने वर्ल्ड कप में एंट्री की पहली कोशिश साल 2011 में की थी. लेकिन तब वो क्वालिफाइंग राउंड में ही बाहर हो गए थे. इस नाकामी की वजह से उन्हें 2011 वर्ल्ड कप में खेलने का टिकट तो नहीं मिला था लेकिन वनडे टीम का दर्जा जरूर हासिल हो गया था.

‘टिकट टू वर्ल्ड कप’ के बाद ‘डिंग-डांग’

अब जबकि अफगानिस्तान ने लगातार दूसरी बार वर्ल्ड कप में एंट्री ली है तो जाहिर सी बात है इसका जश्न भी दोगुना होगा. अफगानिस्तान की इस कमाल की उपलब्धि का जबरदस्त जश्न मना.  इस ऐतिहासिक कामयाबी पर अफगानिस्तान के ड्रेसिंग रूम में भी जमकर डिंग-डांग देखने दिखा.

 

इस वीडियो में अफगान खिलाड़ियों का मकसद साफ है. जश्न की खुमारी में डूबे इन खिलाड़ियों की ये ललकार है कि वर्ल्ड कप खेलने का लाइसेंस तो मिल चुका है, अब बस इंग्लैंड में अफगानी पताके को बुलंद करना है.

अफगानिस्तान के सुपरस्टार राशिद खान ने अपनी टीम की इस बेमिसाल कामयाबी का जमकर शुक्रिया अदा किया. उन्होंने कहा कि दुआओं का साथ बस यू हीं बरकरार रखें ताकि हम ऐसे ही आगे बढ़ते जाएं.

ऐसे मिला वर्ल्ड कप का टिकट

अफगानिस्तान को वर्ल्ड कप का टिकट मिला कैसे अब जरा वो समझिए. वर्ल्ड कप क्वालिफायर के आखिरी मैच में अफगानिस्तान का मुकाबला आयरलैंड से था. ये मुकाबला नॉक आउट जैसा था. यानी जीते तो वर्ल्ड कप हारे तो खाली हाथ. अफगान खिलाड़ी इस मौके की नजाकत और इसकी कीमत को समझते थे. आयरलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 7 विकेट खोकर 209 रन बनाए और अफगानिस्तान के सामने जीत के लिए 210 रन का लक्ष्य रखा. इस लक्ष्य को अफगानिस्तान ने ओपनर शहजाद के दमदार अर्धशतक और अपने कप्तान अशगर स्टैनिकजई की कप्तानी पारी के दम पर 5 गेंद पहले ही हासिल कर लिया और मुकाबले को 5 विकेट से अपने नाम करते हुए लगातार दूसरी बार वर्ल्ड कप का टिकट हासिल कर लिया.

वर्ल्ड कप की 10 टीमें तय

अफगानिस्तान की इस बेमिसाल उपलब्धि के बाद अगले साल इंग्लैंड में होने वाले 2019 विश्व कप में खेलने वाली 10 टीमों के नाम भी अब तय हो गए हैं.  इन टीमों में अफगानिस्तान, ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, इंग्लैंड, भारत, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका, श्रीलंका और वेस्टइंडीज की टीमें शामिल हैं. आईसीसी ने पहले ही साफ कर दिया था कि 2019 वर्ल्ड कप में सिर्फ 10 टीमें खेलेंगी. आईसीसी की तय तारीख तक जिन टीमों ने वनडे रैंकिंग में टॉप-8 का स्थान हासिल किया था उन्हें वर्ल्ड कप में सीधे एंट्री मिल गई थी.

जो टीमें रैंकिंग में 8वें स्थान से नीचे रहीं उन्हें आईसीसी विश्व कप क्वालीफायर दौर से गुजरना पड़ा. इस क्वालीफायर में वेस्टइंडीज टीम भी शामिल थी. हालांकि वेस्टइंडीज की टीम किसी उलटफेर का शिकार नहीं हुई और अपने अच्छे प्रदर्शन के दम पर वर्ल्ड कप में पहुंचने वाली 9वीं टीम बनी.  इसके बाद आयरलैंड को हराकर अफगानिस्तान वर्ल्ड  कप में पहुंचने वाली 10वीं टीम बन गई. इन सबके के बीच जिस एक टीम का वर्ल्ड कप खेलने का सपना पिछले 36 साल में पहली बार टूटा वो टीम जिम्बाब्वे रही.