नई दिल्ली: बेंगलोर के तेज गेंदबाज उमेश यादव ने कहा है कि वह केवल टेस्ट क्रिकेट में ही नहीं, बल्कि तीनों प्रारूपों में अपने देश के लिए खेलना चाहते हैं. उमेश ने भारत के लिए अब तक 36 टेस्ट मैच खेले हैं. इसके अलावा 71 वनडे और एकमात्र टी-20 मैच में उन्हें खेलने का मौका मिला है. उमेश इस समय आईपीएल के 11वें संस्करण में बेंगलोर की टीम की ओर से खेल रहे हैं. उन्होंने शुक्रवार को पंजाब के खिलाफ एक ही ओवर में तीन विकेट हासिल किए थे.

उमेश ने आईपीएल वेबसाइट से कहा, “यह एक लेबल लग गया है जो मेरे साथ लंबे समय से चला आ रहा है. टेस्ट क्रिकेट में गति और स्विंग के लिए आपके पास ज्यादा समय होता है. यदि आप में प्रतिभा है तो आप इससे रिवर्स भी प्राप्त कर सकते हैं.”

कोलकाता का युवा गेंदबाज चोटिल होकर टीम से बाहर, 3.20 करोड़ में बिका था खिलाड़ी

30 साल के उमेश ने कहा, “मैं अपने देश के लिए सभी तीनों प्रारूपों में खेलना चाहता हूं, क्योंकि मुझे इसमें आनंद आता है. मेरा मानना है कि मैं अभी जिस उम्र में हूं उस उम्र में मेरे अंदर तीनों प्रारूपों में खेलने की क्षमता है. जब भी मैं वनडे या टेस्ट खेलता हूं तो मैं अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करता हूं, क्योंकि नई गेंद से आपको एक ही लाइन-लेंथ पर गेंदबाजी करनी होती है.”

पंजाब के खिलाफ चेन्नई का मुकाबला कल, अश्विन को धोनी से मिलेगी कड़ी चुनौती

बता दें कि उमेश यादव ने टीम इंडिया के लिए अब तक कुल 71 वनडे मैच खेले हैं, जिनमें 102 विकेट झटके हैं. वहीं 36 टेस्ट मैचों में 99 विकेट ले चुके हैं. उमेश का वनडे में 4 विकेट लेकर 31 रन देना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा है. वहीं टेस्ट मैच की एक पार में 93 रन देकर 5 विकेट लेना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा है. उन्होंने टीम इंडिया के लिए सिर्फ एक टी-20 इंटरनेशनल मैच खेला है, जिसमें 1 विकेट लिया था.