नई दिल्ली. भारत के स्टार रेसलर सुशील कुमार गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में सोना जीतकर अपने देश वापस लौट आए हैं. सुशील ने पुरुषों के 74 केजी कैटेगरी के दंगल में सोने का तमगा हासिल किया है. फाइनल मुकाबले में कनाडा के पहलवान को सिर्फ 1 मिनट में चित कर सुशील ने अपनी गोल्डन जीत की स्क्रिप्ट लिखी थी. बहरहाल, गोल्ड कोस्ट से सोने का मेडल लेकर जब सुशील देश लौटे तो योगगुरु स्वामी रामदेव से दिल्ली में मुलाकात की. कॉमनवेल्थ गेम्स में सुशील की गोल्डन कामयाबी पर बाबा रामदेव गदगद हो गए. पहलवान सुशील कुमार के जबरदस्त पावर की उन्होंने जमकर तारीफ की और कहा कि अगर सुशील रियो गए होते तो वहां भी सोने का मेडल जीत सकते थे.

 

तो सुना आपने, इस वीडियो में बाबा रामदेव ये कह रहे हैं कि , ” अगर उस समय यानी ओलंपिक 2016 में सुशील जी खेलते तो एक गोल्ड मेडल भारत के खाते में और जुड़ता और भारत को गर्व होता. ” रेसलर सुशील कुमार को लेकर बाबा रामदेव ने ये बड़ी बात तब कही जब वो कॉमनवेल्थ गेम्स से लौटने के बाद उनसे मिलने पहुंचे थे.

बाबा रामदेव से मुलाकात के दौरान सुशील के साथ साथी पहलवान सुमित मलिक भी साथ थे. रियो ओलंपिक में ना खेल पाने को लेकर सुशील ने कहा, ” मैं अब उस मामले को भूलकर आगे बढ़ चला हूं. अगर मैं ऐसा नहीं करता तो कॉमनवेल्थ में गोल्ड मेडल नहीं जीत पाता. “भारत के स्टार रेसलर ने गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में अपनी गोल्डन जीत का श्रेय फैंस और बाबा रामदेव को देते हुए कहा, ” ये सब आपकी दुआओं और स्वामी जी के आशीर्वाद का असर रहा कि मैं गोल्ड कोस्ट में अच्छा प्रदर्शन कर पाया.”

इंजरी से उबरने के बाद सुशील कुमार के लिए कॉमनवेल्थ गेम्स इंटरनेशनल लेवल पर पहला बड़ा दंगल था, जिसमें वो गोल्डन दांव लगाने में कामयाब रहे.