मोहाली (पंजाब): इंग्लैंड को भले ही मोहाली टेस्ट मैच में मंगलवार को भारत के हाथों 8 विकेट से हार सहनी पड़ी, लेकिन इंग्लैंड के एक युवा बल्लेबाज के जुझारूपन ने विराट का दिल जीत लिया। इंग्लैंड टीम के लिए मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। अब उनके सलामी बल्लेबाज हसीब हमीद भारत के साथ जारी पांच मैचों की टेस्ट सीरीज से बाहर हो गए हैं। हमीद के हाथ में चोट है। इंग्लिश टीम प्रबंधन ने कहा है कि हमीद को स्वदेश लौटकर इस चोट से उबरने के लिए सर्जरी करानी होगी।

19 वर्षीय हसीब हमीद ने इंग्लैंड की दूसरी पारी में टूटी उंगली के साथ करीब 3 घंटे तक बल्लेबाजी की और भारत को पारी के अंतर से जीत दर्ज नहीं करने दी। हमीद ने यहां खेले गए तीसरे टेस्ट मैच की दूसरी पारी में इंग्लैंड के लिए 156 गेंदों पर नाबाद 59 रन बनाए। मैच के बाद कप्तान एलिस्टर कुक ने कहा कि हमीद के हाथ में स्टील की प्लेट लगानी होगी। यह भी पढ़े-कोहली की सेना ने कायम रखा मोहाली का रिकॉर्ड, 3 साल बाद बना ऐसा रिकॉर्ड

हसीब इंग्लैंड की दूसरी पारी में 59 रनों की पारी खेलकर नाबाद रहे और उनकी वजह से इंग्लैंड भारत के सामने 103 रनों का लक्ष्य रख पाया। इंग्लैंड की पारी खत्म होने के बाद भारतीय कप्तान और दुनिया के धुरंधर बल्लेबाज विराट कोहली को हसीब हमीद की पीठ थपथपाते हुए देखा गया।

इस बारे में विराट ने कहा, मैं हमीद के जुझारूपन से प्रभावित हुआ। इस तरह की चोट के बावजूद टीम की स्थिति को देखते हुए उनका समर्पण देखते ही बनता था, इसलिए मैंने उनकी पीठ थपथपाई। वो निश्चित रूप से भविष्य के सितारा खिलाड़ी हैं।

मैच के बाद कुक ने कहा, “दुर्भाग्य से हमीद को स्वदेश लौटकर अपने हाथ में स्टील की प्लेट फिट करानी होगी. यह काफी खराब स्थिति है. हम जल्द ही हमीद को फिर से राष्ट्रीय टीम में देखना चाहते हैं। यह भी पढ़े-भारत ने इंग्लैंड को दी 8 विकेट से करारी शिकस्त, श्रृंखला में 2-0 की बढ़त

मोहाली टेस्ट के पहले दिन भारतीय तेज गेंदबाज उमेश यादव की गेंद हमीद के बाएं हाथ की छोटी उंगली पर लगी थी। हमीद की चोट का सोमवार को स्कैन किया गया था, लेकिन इसकी रिपोर्ट मंगलवार दोपहर को मिली।

हसीब हमीद ने भारत के खिलाफ राजकोट टेस्ट में इंग्लैंड की ओर से डेब्यू किया था। उन्होंने इसके साथ ही दो अनूठे रिकॉर्ड बनाए थे। पहला वह 19 साल, 297 दिन की आयु में इंग्लैंड की ओर से डेब्यू करने वाले सबसे युवा ओपनर बन गए और उन्होंने लेन हटन का रिकॉर्ड तोड़ा, जिन्होंने 21 वर्ष 3 दिन की उम्र में टेस्ट पदार्पण किया था। दूसरा वह पिछले 67 साल में इंग्लैंड की ओर से डेब्यू करने वाले दूसरे खिलाड़ी बने।