टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने लगातार खेल रहे क्रिकेटरों की आराम दिए जाने की वकालत की है. श्रीलंका के खिलाफ गुरुवार से शुरू हो रहे पहले टेस्ट मैच से पहले कप्तान विराट कोहली ने कहा कि ज्यादा खेलने वाले क्रिकेटरों को आराम जरूर मिलना चाहिए. दरअसल, हार्दिक पंड्या को टेस्ट सीरीज में आराम दिए जाने के सवाल पर कोहली ने ये बात कही. 

कोहली ने 30वां वनडे शतक जड़ते हुए रचा इतिहास, पॉन्टिंग की बराबरी पर पहुंचे

कोहली ने 30वां वनडे शतक जड़ते हुए रचा इतिहास, पॉन्टिंग की बराबरी पर पहुंचे

श्रीलंका के खिलाफ पहले टेस्ट की पूर्व संध्या पर कोहली ने पत्रकारों से कहा कि निश्चित रूप से मुझे भी आराम की जरूरत है, मुझे क्यों आवश्यकता नहीं होगी. जब मुझे लगेगा कि मेरे शरीर को आराम की जरूरत है तो मैं इसके लिए कह दूंगा, क्यों नहीं कहूंगा. मैं रोबोट नहीं हूं, आप मेरी चमड़ी को काटकर देख सकते हो कि ऐसा करने में पर खून निकलता है या नहीं. कोहली ने इंडियन प्रीमियर लीग के 10वें चरण में 10 मैच भी खेले हैं और उन्होंने थकान संबंधित चिंता के बारे में भी चेताया.

उन्होंने कहा कि यह एक चीज है, मुझे नहीं लगता है कि लोग इसे उचित तरह से समझा पाते हैं. थकान के बारे में बाहर से काफी बातें होती हैं कि खिलाड़ी को आराम दिया जाना चाहिए या नहीं. उदाहरण के तौर पर सभी क्रिकेटर एक साल में 40 मैच खेलते हैं. तीन खिलाड़ी जिन्हें आराम दिया जाना चाहिए, उनके कार्यभार को बांटा जाना चाहिए. अंतिम एकादश में हर कोई 45 ओवर तक बल्लेबाजी नहीं करता या हर कोई टेस्ट में 30 ओवर तक गेंदबाजी करता हो. लेकिन जो खिलाड़ी नियमित तौर पर ऐसा कर रहे हैं, उनका आकलन किया जाना चाहिए.

लगातार खेलना असंभव- कोहली

उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि लोग क्रीज पर बिताए गए समय को देखते हैं, रनों की संख्या देखते हैं, ओवरों की संख्या देखते हैं, परिस्थितियां देखते हैं. मुझे नहीं लगता कि लोग इतना आकलन करते हैं. हर कोई इतने ही मैच खेलता है. कोहली ने कहा कि उदाहरण के तौर पर पुजारा पर सबसे ज्यादा बोझ है क्योंकि वह सबसे ज्यादा समय क्रीज पर बिताता है और उसका खेल इसी तरह से होता है. आप इसकी तुलना किसी अन्य बल्लेबाज से नहीं कर सकते क्योंकि उसका बोझ काफी कम होगा.

उन्होंने कहा कि इन सभी चीजों को ध्यान में रखना चाहिए क्योंकि हमने 20-25 खिलाड़ियों की एक मजबूत कोर टीम तैयार की है. आप नहीं चाहते कि आपके महत्वपूर्ण खिलाड़ी मुश्किल मौके पर विफल हो जाएं, यहीं संतुलन आगे बरकरार रखने की जरूरत है. कोहली ने कहा कि सभी तीनों प्रारूपों में खेलन और ब्रेक लिये बिना उसी जज्बे से खेलना असंभव है. उन्होंने कहा कि यह मानवीय रूप से संभव नहीं है कि खिलाड़ी तीनों में उसी उत्साह और समान स्तर के प्रदर्शन को कायम रखें.

हार्दिक को मिला आराम

कोहली ने 2017 में सात टेस्ट, 26 वनडे और 10 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं जो भारतीय टीम के किसी भी खिलाड़ी द्वारा खेले गए सबसे ज्यादा मुकाबले हैं.  श्रीलंका सीरीज के पहले दो टेस्ट के लिए हार्दिक पंड्या को आराम दिया गया है. विराट कोहली प्रेस कांफ्रेंस में इसी से जुड़े सवाल का जवाब दे रहे थे. पंड्या को आराम दिए जाने पर कई क्रिकेट पंडित सवाल उठा रहे थे. लेकिन पंड्या ने खुद ही साफ कर दिया कि उनकी गुजारिश पर ही उन्हें आराम दिया गया.

अब कोहली ने भी आराम दिए जाने के मुद्दे पर खुलकर अपनी राय जाहिर कर दी है. संभव है कि दक्षिण अफ्रीका के अहम दौरे से पहले श्रीलंका के खिलाफ पहले दो टेस्ट के बाद कोहली को तीसरे टेस्ट और वनडे सीरीज में आराम दे दिया जाए ताकि वह द. अफ्रीका के खिलाफ तरोंताजा होकर मैदान पर उतर सकें.