हार्दिक पंड्या ने पल्लेकेले में श्रीलंका के खिलाफ तीसरे टेस्ट के दूसरे दिन महज 86 गेंदों में अपनी पहली टेस्ट सेंचुरी ठोकी. पंड्या ने अपना पहला टेस्ट शतक 7 चौकों और 7 छक्के की मदद से बनाया. अपनी इस पारी के दौरान उन्होंने पुष्पकुमारा के एक ओवर में 26 रन बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बन गए. पंड्या ने 96 गेंदों पर 8 चौके और 7 छक्के की मदद से 108 रन की शानदार पारी खेली. पंड्या की इस पारी की बदौलत भारत ने अपनी पहली पारी में 487 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया.

हार्दिक पंड्या की इस जोरदार पारी पर टीम इंडिया के धाकड़ बल्लेबाज रहे वीरेंद्र सहवाग ने उन्हें अनोखे अंदाज में बधाई दी और ट्विटर पर लिखा, ‘वाह! क्या शानदार शतक लगाया है हार्दिक पंड्या ने. शाबाश मेरे कुंगफु पंड्या. मजा आ गया.’

इस शतक के साथ ही हार्दिक पंड्या टेस्ट क्रिकेट में आठवें नंबर पर सबसे तेज शतक लगाने वाले भारतीय बल्लेबाज बन गए. पंड्या ने पुष्पकुमारा के एक ओवर में लगातार दो चौके और तीन छक्के जड़ते हुए 26 रन ठोक डाले और एक नया इतिहास रच दिया. ये टेस्ट क्रिकेट में किसी भी भारतीय बल्लेबाज द्वारा एक ओवर में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड है. इससे पहले भारत के लिए कपिल देव और संदीप पाटिल ने एक ओवर में 24-24 रन बनाए थे. (हार्दिक पंड्या ने तूफानी बैटिंग से रचा इतिहास, श्रीलंका के खिलाफ ठोका आतिशी शतक)

साथ ही पंड्या ने दूसरे दिन लंच से पहले 107 रन की नाबाद पारी खेली और टेस्ट क्रिकेट में किसी भी भारतीय बल्लेबाज द्वारा लंच से पहले टेस्ट के किसी भी दिन सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड बनाया. इससे पहले 2006 में वेस्टइंडीज के खिलाफ ग्रॉस आईलेट में वीरेंद्र सहवाग ने लंच के पहले 99 रन बनाए थे.