स्विट्जरलैंड के स्टार टेनिस खिलाड़ी रोजर फेडरर ने रविवार को फाइनल में क्रोएशिया के मारिन सिलिच को सीधे सेटों में मात देकर रिकॉर्ड आठवीं बार विंबलडन का पुरुष सिंगल्स खिताब जीत लिया है. ये फेडरर के करियर का 19वां ग्रैंड स्लैम खिताब है और पहले ही सबसे ज्यादा ग्रैंड स्लैम जीतने के अपने रिकॉर्ड को उन्होंने और बेहतर किया है. फेडरर ने फाइनल में सिलिच को सीधे सेटों में 6-3, 6-1, 6-4 से मात देते हुए आठवीं बार विंबलडन खिताब जीता.

फेडरर 35 वर्ष की उम्र में विंबलडन जीतने वाले सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बन गए हैं. उनसे पहले 1975 में आर्थर ऐशे ने 32 साल की उम्र में विंबलडन जीता था. ये इस साल का फेडरर का दूसरा ग्रैंड स्लैम खिताब है, इससे पहले जनवरी में उन्होंने राफेल नडाल को मात देकर ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब जीता था.

फेडरर ने अपने करियर का 19वां ग्रैंड स्लैम खिताब जीता (twitter)
फेडरर ने अपने करियर का 19वां ग्रैंड स्लैम खिताब जीता (twitter)

 

फाइनल में फेडरर के शानदार खेल का सिलिच के पास कोई जवाब नहीं था और सिलिच कभी भी फेडरर को चुनौती देते नजर नहीं आए. 2014 के यूएस ओपन विजेता रहे सिलिच किसी भी सेट में फेडरर की चुनौती का मुकाबला नहीं कर पाए. सिलिच ने सेमीफाइनल में अमेरिका के सैम क्वैरी को मात देकर अपने पहले विंबलडन फाइनल में पहुंचकर फेडरर के साथ भिड़ंत पक्की की थी, जबकि फेडरर ने टॉमस बर्डिच को मात देकर अपने 11वें विंबलडन फाइनल और 29वें ग्रैंड स्लैम फाइनल में जगह बनाई थी.

फेडरर ने फाइनल में पहला सेट 6-3 से अपने नाम किया. दूसरे सेट में तो सिलिच बिल्कुल बेअसर नजर आए और फेडरर ने आसानी से ये सेट भी 6-1 से अपने नाम कर लिया. तीसरे सेट में सिलिच ने वापसी की कोशिश की लेकिन वह आखिरी में 6-4 से फेडरर ने सेट और खिताब अपने नाम कर लिया.